एक तारीख को दिया जाए परिषदीय शिक्षकों को वेतन, अखिल भारतीय प्राथमिक शिक्षक संघ ने उठाई समस्या


ललितपुर । अखिल भारतीय प्राथमिक शिक्षक संघ से संबद्ध उत्तर प्रदेशीय प्राथमिक शिक्षक संघ के जिलाध्यक्ष विनोद निरंजन व महामंत्री शकुंतला कुशवाहा के नेतृत्व में जिला बेसिक शिक्षाधिकारी रामप्रवेश को ज्ञापन सौंपकर शिक्षकों की समस्याओं को निस्तारित कराए जाने की मांग की।



ज्ञापन में बताया कि शिक्षक व शिक्षिकाएं शासन के निर्देशों का पालन कर रहे हैं। इसके बावजूद भी शिक्षक, शिक्षिकाओं की समस्याएं ब्लॉक व जिला स्तर पर लंबित हैं। उन्होंने मांग की है कि प्रत्येक माह की एक तारीख को खातों में वेतन दिया जाए। शिक्षकों की पदोन्नति प्रक्रिया शीघ्र शुरू की जाए।



अधिकारियों द्वारा विद्यालयों का सकारात्मक निरीक्षण किया जाए। कमी पर विद्यालय स्टाफ को दूर करने का मार्गदर्शन और समय प्रदान किया जाए। परिषदीय विद्यालयों में मासिक वेतन से सामूहिक बीमा की 87 रुपये की धनराशि की कटौती सामूहिक बीमा का लाभ के रूप में पात्रों को दिया जाए।


परिषदीय विद्यालयों में अध्ययनरत छात्र-छात्राओं को वितरित की जाने वाली निशुल्क पाठ्य पुस्तकें विद्यालय का रूट चार्ट बनाकर विद्यालयों में ही उपलब्ध कराई जाएं। शिक्षकों द्वारा निजी व्यय कराकर न उठाया जाए। नियमानुसार ऑनलाइन स्वीकृत चिकित्सकीय अवकाश के दिनों का वेतन अवरूद्ध न किया जाए।



इस दौरान आनंद त्रिपाठी, सत्येंद्र जैन, विनय रजक, बृजेश चौरसिया, अनुज राजपूत, प्रशांत राजपूत, इंदर सिंह पटेल, अरविंद सिंह, गौरीशंकर सेन, मुकेश नरवरिया आदि मौजूद रहे। वहीं, राष्ट्रीय शैक्षिक महासंघ उत्तर प्रदेश शिक्षकों की समस्याओं के निस्तारण की मांग को लेकर बीएसए और वित्त व लेखाधिकारी को सौंपकर कार्रवाई करने की मांग की है। पत्र में बताया कि शिक्षकों के वेतन का भुगतान एक तारीख को किया जाए। ऑनलाइन वेतन भुगतान की व्यवस्थाओं के बाद भी अधिकारियों व लेखागारों द्वारा भ्रष्टाचार किया जा रहा है। 25 तक भी वेतन का भुगतान नहीं हो पा रहा है आदि समस्याओं का निराकरण शीघ्र किया जाए। ज्ञापन पर मंडल अध्यक्ष अरविंद तिवारी, रविकांत ताम्रकार आदि के हस्ताक्षर बने हैं।