मानव संपदा पोर्टल से खुली फर्जीवाड़े की पोल, एक ही नाम के दो जिलों में मिले शिक्षक, अन्तिम नोटिस जारी: होगी वेतन वसूली

लखीमपुर-खीरी।

मानव संपदा पोर्टल पर शिक्षकों का पूरा विवरण दर्ज किया गया है। इस पोर्टल पर दो शिक्षक एक ही नाम, पिता का नाम व उम्र के मिले। इसमें एक खीरी जिले में तैनात है दूसरा बलिया जिले में तैनात है। उधर शिक्षक भर्ती की जांच एसटीएफ करती है। एसटीएफ ने इसको लेकर पत्र लिखा। इस पर बीएसए कार्यालय से शिक्षक को 20 सितम्बर 2021 को पत्र लिखा गया जिसमें पांच अक्तूबर को बुलाया गया। शिक्षक कार्यालय में पहुंचा लेकिन कोई लिखित उत्तर नहीं दिया। दिए गए पते पर जब पत्र भेजा गया तो वह वापस आ गया। अब अन्तिम नोटिस जारी की गई है।


बीएसए डॉ.लक्ष्मीकांत पाण्डेय ने बताया कि उच्च प्राथमिक विद्यालय मढि़या अमीरनगर में तैनात शिक्षक देवेन्द्र यादव को लेकर वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक स्पेशल टास्क फोर्स लखनऊ ने पत्र भेजा गया था। बताया गया कि देवेन्द्र यादव पुत्र चन्द्रिका यादव जन्मतिथि एक जन वरी 1965 है। इसी नाम, पिता का नाम और जन्मतिथि का एक शिक्षक बलिया जिले में तैनात है। खीरी जिले में तैनात शिक्षक के अभिलेखों की जांच के लिए नोटिस देकर जवाब मांगा गया था शिक्षक ने कोई लिखित जवाब नहीं दिया। जो पता दर्ज कराया था उस पर रजिस्टर्ड डाक से नोटिस भेजी गई जो अवितिरत होकर वापस आ गई। इस पर शिक्षक को अन्तिम नोटिस जारी की गई है। इसमें एक सप्ताह का समय दिया गया है। नोटिस में यह भी कहा है कि एक सप्ताह में जवाब न देने पर फर्जी व कूटरचित अभिलेखों व प्रमाणपत्रों के आधार पर नियुक्ति प्राप्त करने के कारण सेवा समाप्त कर दी जाएगी। दिया गया वेतन भी वसूला जाएगा।