मतदाता सूची पुनरीक्षण अभियान के दौरान बूथों पर रहा सन्नाटा


प्रयागराज: मतदाता सूची पुनरीक्षण के लिए शनिवार को चलाए गए अभियान का प्रयागराज में खास असर नहीं दिखा। दोपहर 12 बजे कुछ बूथों पर बीएलओ बैठे थे तो वहीं कुछ बूथों पर बीएलओ ने जाने की जेहमत भी नहीं उठाई। इसके चलते मतदाता बढ़ाने का अभियान ठंडा ही नजर आया। पूरे दिन में 6279 लोगों ने ही फॉर्म जमा किए, इनमें भी युवा मतदाता अधिक रहे। बूथों पर जब ‘हिन्दुस्तान टीम पहुंची तो यहां पर सन्नाटा ही पसरा दिखा।


सेंट एंथोनी इंटर कॉलेज को चुनाव के दौरान बूथ बनाया जाता है। परिसर में शनिवार को बीएलओ मौजूद नहीं थे। लोगों ने जब पूछा तो मालूम चला कि बीएलओ जूनियर सेक्शन में बैठते हैं। जूनियर सेक्शन में लोगों ने फॉर्म जमा किया। दोपहर एक बजे एडीएम प्रशासन विजय शंकर दूबे भी यहां निरीक्षण के लिए आए। तब तक महज 23 फॉर्म जमा हुए थे।

कर्नलगंज इंटर कॉलेज में कट रहा था चालान

कर्नलगंज इंटर कॉलेज पोलिंग बूथ पर दोपहर 12:20 बजे तक बीएलओ गायब थे। जबकि डीएम संजय खत्री का निर्देश था कि बीएलओ सुबह 10 से 12 बजे के बीच डोर डू डोर जाएंगे और फिर 12 बजे से शाम पांच बजे के बीच बूथ पर रहेंगे। विद्यालय प्रशासन से जब बीएलओ के बाबत पूछा गया तो उन्होंने बताया कि बीएलओ बाहर बैठे होंगे। विद्यालय के गेट के अंदर मौजूद ट्रैफिक पुलिस वाले चालान काट रहे थे। बीएलओ कहीं दिखाई नहीं दिए।

गोल्डेन जुबली में कर रहे थे बारी का इंतजार

गोल्डेन जुबली बूथ पर कुछ बीएलओ बैठे थे। बताया कि यहां पर 12 बूथ हैं। बूथ पर सुबह से दोपहर 12:30 बजे तक महज 15 फॉर्म आए थे। बीएलओ सभी की सूची लेकर मिलान कर रहे थे। विद्यालय के गेट पर अभिभावक जरूर मौजूद थे, लेकिन वो बच्चों को लेने आए थे।

संत रविदास पोलिंग बूथ

संत रविदास पोलिंग बूथ पर तो मतदाता दिखाई ही नहीं दिए। बूथ की चार बीएलओ बैठी थी। बीएलओ वसुधा शुक्ला ने बताया कि सुबह 10 बजे से डोर टू डोर सर्वे किया गया। इसके बाद से इंतजार चल रहा है। यहां पर दोपहर 1:45 बजे तक महज 10 लोग ही आए थे। इन लोगों ने फॉर्म लिया।

महिला सेवा सदन बूथ पर भी जारी था इंतजार

बैरहना के महिला सेवा सदन बूथ पर दोपहर दो बजे बीएलओ बैठे थे। मौजूद बीएलओ ने बताया कि सुबह से पर्यवेक्षक आए हैं और दो घंटे में 18 लोगों ने आकर जानकारी ली है। किसी ने दस्तावेज और फॉर्म नहीं दिए थे।

महाअभियान का हाल

कुल जमा फॉर्म 6279

18 से 19 उम्र के मतदाताओं ने दिया फॉर्म 2788

नाम संशोधन के लिए जमा फॉर्म सात 858

नाम कटवाने के लिए जमा हुआ फॉर्म आठ 56

यह रहा बड़ा कारण

पुनरीक्षण के लिए पहले रविवार का दिन तय किया गया था। रविवार को करवाचौथ होने के कारण जिला प्रशासन ने एक दिन पहले ही अभियान चला लिया। बीएलओ का कहना था कि अवकाश का दिन होने पर अधिक लोग संपर्क करते हैं। अवकाश न होने के कारण लोगों की संख्या बेहद कम रही।