बलिया :- आज परिषदीय विद्यालयों में बंद रहेंगे ताले, संगठन आर-पार की लड़ाई को तैयार..


बलिया। “फंसे हैं अफसर अपने ही पांसों में, एक गुरुर टहल रहा अहंकारी सांसों में..।” कुछ ऐसे ही आरोपों के साथ अपनी मांगों को लेकर शिक्षकों के महायुद्ध में शामिल विभिन्न संगठनों ने आर-पार की लड़ाई लड़ने का फैसला लिया है। उत्तर प्रदेशीय प्राथमिक शिक्षक संघ एवं सहयोगी संगठनों ने जनपद के सभी परिषदीय विद्यालयों में सोमवार को तालाबंदी की घोषणा की है। शिक्षक संघ की तालाबंदी से विभागीय अधिकारियों में छटपटाहट बढ़ गई है। उच्चाधिकारियों ने मामले को गंभीरता से लेते हुए बीएसए से पूछताछ की है।


प्राथमिक शिक्षक संघ एवं अधिकार मंच के जिलाध्यक्ष जितेंद्र सिंह ने कहा कि शिक्षक को साधारण समझने की भूल कभी न करें। प्रलय और निर्माण दोनों शिक्षक की गोद में पलते हैं। आचार्य चाणक्य के इस कथन को मंत्र मान जनपद के शिक्षकों ने भी अपने आंदोलन को तब तक जारी रखने का संकल्प लिया है, जब तक की उनकी मांगें पूरी नहीं हो जाती। श्री सिंह ने कहा कि जरूरत पड़ी तो जनपद के सभी सरकारी कार्यालयों में तालाबंदी होगी। शिक्षक संगठनों के साथ अन्य संगठनों के पदाधिकारी एवं कर्मचारी एकजुट हो बीएसए के खिलाफ आंदोलन करेंगे। इसी क्रम में सीनियर बेसिक शिक्षक संघ के जिलाध्यक्ष सुशील कुमार पांडेय ‘कान्ह जी’ ने कहा कि न्याय मिलने तक उनका यह आंदोलन जारी रहेगा। विद्यालयों में तालाबंदी और पठन-पाठन बाधित होने के बाद भी अगर शिक्षकों को न्याय नहीं मिला, तो आंदोलन और व्यापक रूप लेगा।
बेसिक शिक्षा अधिकारी कार्यालय परिषर में तीन दिनों तक लगातार प्राथमिक शिक्षक संघ का धरना चला। इसके बाद भी सक्षम अधिकारी द्वारा कोई हल न निकाले जाने पर शिक्षक नेताओं ने जिले के प्राथमिक और जूनियर हाईस्कूलों में सोमवार को ताला बंद रखने की घोषणा की है।
संघ का आरोप है कि बीएसए द्वारा शिक्षकों, शिक्षामित्रों व अनुदेशकों का उत्पीड़न करने के साथ आर्थिक व मानसिक शोषण किया जा रहा है। इसके विरोध में सोमवार को सभी शिक्षक अपने विद्यालयों को बन्द कर धरने में शामिल होंगे। प्राथमिक शिक्षक संघ के आंदोलन में महाविद्यालय शिक्षक संघ के मंत्री अविनाश चन्द्र पांडेय, डां राजेश पांडेय, तेज प्रताप सिंह, सहसंयोजक अजय मिश्र, नमोनारायण सिंह, संतोष पांडेय, संतोष तिवारी, सैफ्फूद्दीन, सुनील सिंह, अजीत पांडेय, विद्या सागर दुबे, सर्वेयर लेकपाल संघ के मंत्री विजेंद्र, सुरेश आजाद, सतीश चन्द्र वर्मा, गणेश जी सिंह (पंजीकृत प्रा शि संघ), राधेश्याम सिंह, करुणानिधि तिवारी, अजय सिंह छूरी, अजय सिंह, राधेश्याम पांडेय, समरजीत सिंह, संतोष दीक्षित, टुनटुन प्रसाद और उदय नारायण राम आदि शामिल रहेंगे। इसके साथ ही जूनियर हाई स्कूल शिक्षक संघ के अध्यक्ष अजीत कुमार यादव ने समर्थन देते हुए सोमवार को सभी विद्यालयों की पूर्ण बंदी की घोषणा की है।