परिषदीय बच्चों की सफलता पर मास्टर साहब का भी होगा सम्मान

सुल्तानपुर। परिषदीय प्राथमिक एवं उच्च प्राथमिक विद्यालयों के बच्चे जवाहर नवोदय विद्यालय में प्रवेश के लिए चयनित होंगे, उनके प्रधानाध्यापक और शिक्षकों को प्रशस्ति पत्र देकर सम्मानित किया जाएगा। उन्हें जिलाधिकारी की ओर से प्रशस्ति पत्र दिया जाएगा। यह योजना शिक्षकों को प्रोत्साहित कराने के लिए बनाई गई है।


जिले में 1450 परिषदीय प्राथमिक विद्यालय, 343 उच्च प्राथमिक विद्यालय और 271 कंपोजिट विद्यालय संचालित हैं। इन विद्यालयों में करीब आठ हजार शिक्षक कार्यरत हैं। विद्यालयों में शैक्षिक गुणवत्ता बढ़ाने के लिए बीएसए दीवान सिंह यादव ने एक योजना बनाई है। इसके तहत जिस स्कूल के पांच बच्चे जवाहर नवोदय विद्यालय में प्रवेश के लिए चयनित होंगे, वहां के प्रधानाध्यापक व अध्यापक को प्रशस्ति पत्र जिलाधिकारी की ओर से प्रदान किया जाएगा। यही नहीं जवाहर नवोदय विद्यालय के प्रधानाचार्य की ओर से भी उस विद्यालय के शिक्षकों को प्रशस्ति पत्र दिया जाएगा। इस योजना के संबंध में जवाहर नवोदय विद्यालय के प्रधानाचार्य तिलक सिंह और बीएसए दीवान सिंह यादव के बीच एक बैठक हुई। इसमें शिक्षकों को प्रोत्साहित करने की योजना पर सहमति बनी।

30 नवंबर तक हो सकेगा आवेदन
जवाहर नवोदय विद्यालय कादीपुर की कक्षाएं अस्थायी तौर पर राजकीय मॉडल इंटर कॉलेज अमिलिया सिकरा के परिसर में संचालित हो रही हैं। प्रधानाचार्य तिलक सिंह ने बताया कि शिक्षण सत्र 2022-23 में प्रवेश के लिए 30 नवंबर तक ऑनलाइन आवेदन किए जा सकेंगे। प्रवेश परीक्षा अप्रैल में होगी। बीएसए दीवान सिंह यादव ने बताया कि सभी खंड शिक्षाधिकारियों को निर्देश दिया गया है कि प्रत्येक विद्यालय से कम से कम 10 बच्चों के आवेदन जवाहर नवोदय विद्यालय में प्रवेश के लिए कराएं जिससे अधिकबच्चे प्रवेश परीक्षा में प्रतिभाग कर सकें।