शिक्षक को विद्यालय के कमरे में बंद करने के मामले में प्रधानाध्यापक और सहायक अध्यापक की वेतन वृद्धि पर रोक

रायबरेली। रोहनिया विकास क्षेत्र के कंपोजिट विद्यालय सरायं अख्तियार के प्रधानाध्यापक और सहायक अध्यापक की वेतन वृद्धि रोक दी गई है।


शिक्षक को विद्यालय के कमरे में बंद करने के मामले की जांच कराए जाने के बाद यह फैसला लिया गया है। गुरुवार को बीएसए ने दोनों का एक-एक अस्थाई वेतन वृद्धि रोकने का आदेश जारी किया।
जिला बेसिक शिक्षा अधिकारी शिवेंद्र प्रताप सिंह ने बताया कि कंपोजिट विद्यालय सरायं अख्तियार के सहायक अध्यापक राजू ने शिकायत की थी कि उन्हें प्रधानाध्यापक अजहर अंसारी ने कक्षा-कक्ष में ताला लगाकर बंद कर दिया।

जांच खंड शिक्षा अधिकारी रोहनिया को सौंपी गई थी। बीईओ ने जांच आख्या में बताया कि सहायक अध्यापक उपस्थिति पंजिका अपने कक्षा-कक्ष में लेकर गए और दरवाजा अंदर से बंद कर दिया।
उन्होंने बताया कि प्रधानाध्यापक ने उपस्थिति पंजिका मांगी, लेकिन शिक्षक ने नहीं दी। इस पर प्रधानाध्यापक ने कक्षा-कक्ष का दरवाजा बाहर से बंद कर लिया। ऐसी स्थिति में दोनों लोग प्रथमदृष्टया दोषी प्रतीत होते हैं।
बीएसए ने बताया कि खंड शिक्षा अधिकारी की जांच आख्या के आधार पर प्रधानाध्यापक और सहायक अध्यापक की एक-एक अस्थाई वेतन वृद्धि बाधित की गई है।