विशेष नोट व स्पष्टीकरण:-👉 Updatemarts.com नाम से मिलती-जुलती वेबसाइट से सावधान रहें, ये सभी नकली हैं, 🙏वेबसाइट प्रयोग करते समय Updatemarts के आगे डॉट .com अवश्य चेक कर लें, धन्यवाद

लापरवाही पर दो खंड शिक्षा अधिकारियों को कारण बताओ नोटिस जारी


देवरिया। आपरेशन कायाकल्प की समीक्षा विकास भवन स्थित गांधी सभागार में सीडीओ रवींद्र कुमार  की अध्यक्षता में रविवार को हुई। इसमें कार्य में लापरवाही बरतने पर  बीईओ भागलपुर एवं सलेमपुर को कारण बताओ नोटिस जारी करने का आदेश दिया गया। वही बीईओ भागलपुर को बिना पूर्व सूचना के समीक्षा बैठक में प्रतिभाग न करने पर स्पष्टीकरण तलब किया गया है। सीडीओ ने कहा कि मिशन कायाकल्प से संबंधित कार्य तय समयसीमा के भीतर पूर्ण कर लें, ऐसा न होने पर कड़ी कार्रवाई की जाएगी। कहा कि जनपद में ऑपरेशन कायाकल्प के 19 पैरामीटरों के अनुसार ब्लाकवार प्राथमिक एवं उच्च प्राथमिक विद्यालय, जर्जर विद्यालयों के ध्वस्तीकरण, मरम्मत एवं निष्क्रिय भवन, मनरेगा के अंतर्गत परिषदीय विद्यालयों में स्वीकृति के सापेक्ष चाहारदीवारी निर्माण कार्य प्रगति एवं पुनर्निर्माण कार्य की समीक्षा की गई, जिसमें भागलपुर, भाटपाररानी एवं लार ब्लाक की प्रगति संतोषजनक नहीं मिली। उन्होंने बीडीओ व बीईओ को निर्देशित किया कि समन्वय स्थापित कर एक सप्ताह के अंदर अच्छी प्रगति लाए। बीएसए ने बताया कि गठित तकनीकी समिति द्वारा कुल 351 जर्जर, निष्प्रयोज्य भवनों का मूल्यांकन किया गया था, जिसके सापेक्ष 256 भवनों के ध्वस्तीकरण की संस्तुति की गई थी. जिसके सापेक्ष 174 जर्जर भवनों के ध्वस्तीकरण की कार्रवाई पूरी कर ली गई है। 90 जर्जर भवन हैं जिसकी निलामी मूल्यांकन की धनराशि अधिक होने के कारण नहीं हो पाई तथा 282 जर्जर भवन नए चिन्हित किए गए हैं। जिसके पुनर्मूल्यांकन के लिए सूची अधिशासी अभियंता ग्रामीण अभियंत्रण विभाग, सहायक अभियंता लोक निर्माण विभाग एवं सहायक अभियंता लघु सिंचाई को दी गई है, लेकिन रिपोर्ट नहीं मिली है।किया कि समन्वय स्थापित कर एक सप्ताह के अंदर अच्छी प्रगति लाए। बीएसए ने बताया कि गठित तकनीकी समिति द्वारा कुल 351 जर्जर, निष्प्रयोज्य भवनों का मूल्यांकन किया गया था, जिसके सापेक्ष 256 भवनों के ध्वस्तीकरण की संस्तुति की गई थी. जिसके सापेक्ष 174 जर्जर भवनों के ध्वस्तीकरण की कार्रवाई पूरी कर ली गई है। 90 जर्जर भवन हैं जिसकी निलामी मूल्यांकन की धनराशि अधिक होने के कारण नहीं हो पाई तथा 282 जर्जर भवन नए चिन्हित किए गए हैं। जिसके पुनर्मूल्यांकन के लिए सूची अधिशासी अभियंता ग्रामीण अभियंत्रण विभाग, सहायक अभियंता लोक निर्माण विभाग एवं सहायक अभियंता लघु सिंचाई को दी गई है, लेकिन रिपोर्ट नहीं मिली है।




आपरेशन कायाकल्प के तहत माह सितंबर में विद्यालयों में प्रारंभ एवं पूर्ण कार्यों की समीक्षा की गई, जिसमें पाया गया कि चार सितंबर तक विद्यालयों में 368 कार्य विभिन्न पैरामीटर्स में प्रारंभ थे जिसके सापेक्ष 189 विद्यालयों में कार्य पूर्ण मिले। पांच सितंबर के बाद 173 विद्यालयों में नए कार्य प्रारंभ मिले। मनरेगा से 663 विद्यालयों में चहारदीवारी का निर्माण कार्य होना है। जिसमें 91 विद्यालयों में निर्माण कार्य शुरू मिला तथा 43 विद्यालयों में चहारदीवारी निर्माण कार्य पूर्ण मिला।


बीएसए ने बताया कि वित्तीय वर्ष 2018-19 में 397 परिषदीय प्राथमिक एवं उच्च प्राथमिक विद्यालयों में विद्युतीकरण का कार्य होना था। इसमें भागलपुर, लार, रामपुर कारखाना, रूद्रपुर, सलेमपुर की सत्यापन रिपोर्ट सोमवार को उपलब्ध कराने के लिए बीएसए को निर्देश दिया। बीईओ भागलपुर, सलेमपुर द्वारा निर्धारित प्रारूप पर सूचना तथा अपडेट प्रगति समय से बीएसए कार्यालय को प्रस्तुत न करने पर कारण बताओ नोटिस जारी करने के लिए बीएसए को निर्देश दिया। बीडीओ भागलपुर द्वारा बिना अवगत कराए बैठक में अनुपस्थित रहने के आरोप में स्पष्टीकरण मांगा।

primary ka master