बीएसए को विद्यालय के अंदर मिला मौत का गड्ढा , पूरे स्टाफ का रोका वेतन: ग्रामीणों ने शिक्षकों की यह शिकायतें

कानपुर देहात। बीएसए ने गुरुवार को संदलपुर ब्लॉक के प्राथमिक विद्यालय रेवां का निरीक्षण किया। वहां बाउंड्रीवाल के अंदर परिसर में बड़े गड्ढे में पानी भरा मिला। इससे किसी भी दिन अनहोनी की आशंका है। बीएसए ने यह देख हैरत जताया। साथ ही विद्यालय के सभी शिक्षकों का वेतन रोककर स्पष्टीकरण तलब किया है। इसके बाद उन्होंने संवलियन विद्यालय हिसावां का निरीक्षण किया।


परिषदीय स्कूलों में शिक्षकों की लापरवाही अफसरों के निरीक्षण में उजागर हो रही है। बीएसए सुनील दत्त के निरीक्षण में प्राथमिक विद्यालय रेवां बंद मिला। बाउंड्रीवाल टूटी होने से वह परिसर के अंदर गए तो वहां एक तालाबनुमा गड्ढा मिला। उसमें पानी भरा है। अगर खेल के दौरान बच्चे गिर जाए तो डूबने की आशंका है। विद्यालय में गंदगी मिली। इस पर हेड मास्टर विमल गुप्ता, जय प्रकाश, रानी पांडेय, प्रभात पांडेय का वेतन रोकने के साथ स्पष्टीकरण तलब किया। इसी तरह से संवलियन विद्यालय हिसावां भी बंद मिला। विद्यालय के शौचालय गंदे मिले। परिसर में गंदगी मिली।

ग्रामीणों ने बीएसए को बताया कि शिक्षक समय से स्कूल नहीं आते हैं। निर्धारित समय के पहले ही स्कूल बंद करके चले जाते हैं। इस पर बीएसए ने हेड मास्टर रामवीर यादव, सहायक शिक्षक सुभाष चंद्र, राजकुमार, संजय पाल, नरेश कुमार, कौशल किशोर, श्रद्धा मिश्रा का वेतन रोकने की कार्रवाई की। साथ ही दोनों विद्यालयों के सभी 16 शिक्षकों से स्पष्टीकरण तलब किया है। बीएसए ने बताया कि स्पष्टीकरण मिलने के बाद शिक्षकों पर विभागीय कार्रवाई की जाएगी। रेवां विद्यालय परिसर का गड्ढा जल्द भराया जाएगा।