एसएससी परीक्षा में आठ साल्वर गिरफ्तार, अभ्यर्थियों ने प्री परीक्षा में बैठाए थे साल्वर, ऐसे होता था काम

 लखनऊ : आशियाना में बिजनौर रोड पर ओमेक्स सिटी स्थित आइडीजेड (ईआन डिजिटल जोन) सेंटर में आयोजित एसएससी स्टेनोग्राफर की स्किल परीक्षा में शनिवार शाम आठ साल्वर और पांच अभ्यर्थियों को गिरफ्तार किया गया है। साल्वर दूसरे के स्थान पर परीक्षा दे रहे थे। वहीं, अभ्यर्थियों ने प्री-परीक्षा में साल्वरों को बैठाया था। गिरफ्तार आरोपितों से पूछताछ में यह राजफाश हुआ। साल्वर गिरोह का सरगना प्रयागराज निवासी कोचिंग संचालक है। वहीं से सारा नेटवर्क चलाता है।


आरोपित प्रयागराज, अंबेडकरनगर और पटना के रहने वाले हैं। इंस्पेक्टर आशियाना धीरज शुक्ला ने बताया कि परीक्षा के दौरान टीसीएस से रामभू आपरेशन एक्जीक्यूटिव और एसएससी से सिटी कोआर्डिनेटर विवेक कुमार सिंह व आब्जर्वर संदीप की ड्यूटी थी फोटो मिलान के दौरान उन्होंने पहली पाली में पांच अभ्यर्थियों और दूसरी पाली में आठ साल्वरों को पकड़ा था। परीक्षण में पता चला कि फर्जी दस्तावेज तैयार किए गए थे। इसके बाद पुलिस को सूचना दी गई। रामभू की तहरीर पर मुकदमा दर्ज किया गया है। गिरफ्तार आरोपितों के पास से 14693 रुपये, तीन मोबाइल फोन और फर्जी दस्तावेजों में आधार कार्ड व प्रवेशपत्र बरामद किए गए हैं।

’>>प्रयागराज, पटना और अंबेडकरनगर के रहने वाले हैं आरोपित

’>>साल्वर दूसरे के स्थान पर दे रहे थे परीक्षा

’>>अभ्यर्थियों ने प्री परीक्षा में बैठाए थे साल्वर


गिरफ्तार पांच अभ्यर्थी

अशोक कुमार : प्रयागराज

राहुल पटेल : प्रयागराज

राम प्रकाश गुप्ता : प्रयागराज

सूरज कुमार : पटना

मो. यासीन : प्रयागराज

गिरफ्तार साल्वर

मान सिंह : प्रयागराज

अंकित पटेल : प्रयागराज

उपेंद्र कुमार : अंबेडकरनगर

मुकेश कुमार : प्रयागराज

सुमित सोनी : प्रयागराज

अनिल कुमार : प्रयागराज

संजीव कुमार : प्रयागराज

आलोक प्रभाकर पटेल : प्रयागराज

कंप्यूटर से फोटो मिक्स कर फार्म पर लगाई जाती थी

प्री-परीक्षा से लेकर स्टेनोग्राफर स्किल टेस्ट तक का ठेका साल्वर गैंग लेता है। उसके बाद सरगना चार से छह लाख रुपये परीक्षा पास कराने का प्रति अभ्यर्थी वसूलता था। इसके बाद फार्म में अभ्यर्थी और साल्वर दोनों की फोटो कंप्यूटर से मिक्स कराकर चस्पा करता था। वही फोटो प्रवेशपत्र में लगकर आती है। साल्वरों को परीक्षा के दो दिन पहले प्रवेशपत्र देकर जिस शहर में सेंटर होता है वहां परीक्षा देने के लिए भेज देता है। पकड़े गए साल्वरों ने दिसंबर 2020 में आयोजित एसएससी की प्री परीक्षा भी दी थी। महत्वपूर्ण है कि एसटीएफ की टीम ने भी दो साल्वरों को गुरुवार को गिरफ्तार किया था।

कोचिंग संचालक है गिरोह का सरगना सूत्रों के मुताबिक गिरफ्तार आरोपितों से पूछताछ में पता चला है कि गिरोह का सरगना प्रयागराज में कोचिंग चलाता है। हालांकि पुलिस उसका नाम अभी सार्वजनिक नहीं कर रही है। उसकी तलाश में पुलिस टीम प्रयागराज जाएगी। वह एजेंट के माध्यम से अभ्यर्थियों से संपर्क करता था।