विद्यालय में फैलीं अव्यवस्थाओं पर बीईओ व प्रधानाध्यापिका को कारण बताओ नोटिस जारी

महराजगंज। जिलाधिकारी सत्येंद्र कुमार ने बुधवार को कंपोजिट विद्यालय धनेवा-धनेई का आकस्मिक निरीक्षण किया। निरीक्षण में अनुपस्थित मिलने पर दो शिक्षकों व तीन शिक्षा मित्रों का एक-एक दिन का वेतन व मानदेय रोक दिया। साथ ही अव्यवस्था पाए जाने पर खंड शिक्षा अधिकारी व प्रधानाध्यापिका को कारण बताओ नोटिस जारी करने का निर्देश बीएसए को दिया।


निरीक्षण के दौरान डीएम ने पाया कि कंपोजिट विद्यालय के कक्षाओं व परिसर में सफाई का आभाव है। शौचालय की स्थिति जीर्ण-शीर्ण मिली। विद्यालय में शुद्ध पेयजल की व्यवस्था नहीं मिली, चहारदीवारी भी नहीं पाई गई। अव्यवस्था व कंपोजिट ग्रांट के संदर्भ में प्रधानाध्यापिका द्वारा संतोषजनक जवाब नहीं दिया गया, जिस पर उन्होंने प्रधानाध्यापिका व खंड शिक्षा अधिकारी को कारण बताओ नोटिस जारी करते हुए एक सप्ताह के अंदर समुचित कार्रवाई करते हुए अवगत कराने का निर्देश दिया। निरीक्षण में शिक्षिका अर्चना वर्मा, शिक्षक नईम अहमद तथा शिक्षा मित्र निशा गुप्ता, रंजीता त्रिपाठी व राबिया खातून अनुपस्थित मिलीं जिस पर शिक्षकों का एक दिन का वेतन तथा शिक्षामित्रों का एक दिन का मानदेय रोकने का निर्देश बीएसए को दिया।

पेड़ काटने संबंधी मामले की जांच करेंगे ज्वाइंट मजिस्ट्रेट व बीएसए
डीएम ने विद्यालय परिसर में लगे पेड़ को स्थानीय दबंगों द्वारा जबरन काटकर उठा ले जाने संबंधी मामले की जांच ज्वाइंट मजिस्ट्रेट व जिला बेसिक शिक्षा अधिकारी को सौंपते हुए वैधानिक कार्रवाई करने व उसकी रिपोर्ट को उपलब्ध कराने को कहा है। पेयजल की बेहतर व्यवस्था को लेकर अधिशासी अधिकारी नगर पालिका व बीएसए को निर्देशित किया है।

निर्वाचन कार्यालय में शीघ्र मरम्मत कराने का दिया निर्देश
डीएम सत्येंद्र कुमार ने बुधवार को जिला निर्वाचन कार्यालय का निरीक्षण किया। वहां कार्यालय का फर्श टूटा होने, दीवारों में दरार मिलने एवं प्लास्टिक के उखड़ा होने पर नाराजगी जताते हुए निर्देश दिया कि संबंधित कार्रवाई संस्था के जिम्मेदारों को बुलाकर शीघ्र मरम्मत कराई जाए। इस दौरान एडीएम पंकज वर्मा, प्रशासनिक अधिकारी श्रीनाथ धर दुबे आदि मौजूद रहे।

वीवी पैट भंडार गृह का भी किया निरीक्षण
डीएम ने कलेक्ट्रेट परिसर में बने वीवी पैट भंडारगृह में पहुंचकर ईवीएम व वीवी पैट के प्रथम चरण के जांच कार्य का भी निरीक्षण किया। इंजीनियरों को निर्देशित किया कि वे इस कार्य को समयसीमा के भीतर पूरा कर लें। भंडारगृह में लगे सीसीटीवी कैमरे के बारे में भी जानकारी प्राप्त की। इस दौरान एडीएम पंकज वर्मा, ज्वाइंट मजिस्ट्रेट साईं तेजा सीलम समेत अन्य जिम्मेदार मौजूद रहे।