तीन माह से नवनियुक्त शिक्षकों को नहीं मिला वेतन, बीएसए कार्यालय पर रोजाना हाजिरी लगाते हैं शिक्षक

तीन माह से नवनियुक्त शिक्षकों को नहीं मिला वेतन

- बीएसए कार्यालय पर रोजाना हाजिरी लगाते हैं शिक्षक
- विद्यालयों में भी नहीं मिल रही तैनाती

संतकबीरनगर। 69 हजार शिक्षक भर्ती के तहत जिले को मिले 65 शिक्षकों को तीन माह से वेतन नहीं मिल पाया है, इसके साथ ही विद्यालय भी आवंटित नहीं हुआ है। नवनियुक्त शिक्षक परेशान हैं और रोजाना बीएसए कार्यालय पर हाजिरी लगा रहे हैं। शिक्षकों ने बीएसए को सोमवार की देर शाम ज्ञापन देकर वेतन जारी करने और विद्यालयों पर तैनाती की मांग की है।

नवनियुक्त शिक्षक विवेक कुमार शुक्ल, इंद्रभान, पंकज त्रिपाठी, सुनील कुमार चौरसिया, चंद्रशेखर, उमाशंकर, राहुल कुमार, शैलेश कुमार आदि का कहना है कि उनकी भर्ती 69 हजार शिक्षक भर्ती के तहत हुई है। 24 जुलाई को उनकी तैनाती जिले में हुई। उस समय विद्यालय आवंटन नहीं हुआ, जिससे वे लोग रोजाना बीएसए कार्यालय पर चक्कर लगा रहे हैं। उन्होंने कहा कि चयनित शिक्षकों के प्रमाण पत्रों का सत्यापन न होने की स्थिति में अपर मुख्य सचिव बेसिक शिक्षा ने शपथपत्र के आधार पर नवनियुक्त शिक्षकों का वेतन निर्गत करने का निर्देश दिया था। इसके अलावा अन्य बहुत से जिलों में या तो सत्यापन का कार्य पूर्ण हो चुका है या शपथपत्र के आधार पर वेतन देने संबंधी आदेश बीएसए द्वारा जारी किया जा चुका हैं। इसलिए यहां पर भी शपथपत्र लेकर वेतन जारी किया जाए। इसके साथ ही विद्यालय का आवंटन किया जाए। इस संबंध में बीएसए दिनेश कुमार ने बताया कि प्रमाण पत्रों का सत्यापन न होने की वजह से वेतन जारी नहीं हो सका है। सत्यापन आने के बाद ही वेतन जारी हो सकेगा।