शिक्षकों की मनमानी पर विभाग सख्त, मानव संपदा पोर्टल के अलावा कोई अवकाश मान्य नहीं, ऑनलाइन हुई प्रक्रिया


वाराणसी। बेसिक शिक्षा परिषद ने अध्यापकों के अवकाश के लिए ऑनलाइन प्रक्रिया शुरू कर दी है। मानव संपदा पोर्टल पर ऑनलाइन के अलावा कोई अवकाश मान्य नहीं है।

तमाम अध्यापक इसका उपयोग भी कर रहे हैं, लेकिन अभी भी कु छ विद्यालयों में मनचाहे ढंग से अवकाश लेने और विद्यालय से गायब रहने का खेल जारी है। जिसके बाद विभाग अब पोर्टल पर अवकाश प्रक्रिया को लेकर सख्त हो गया है। बीएसए राकेश सिंह के निरीक्षण में हाल ही में कई विद्यालयों में शिक्षक अनुपस्थित मिले थे, लेकिन उपस्थिति पंजिका में सूचना नहीं दर्ज थी। कुछ ऐसे ही शिक्षकों का पता लगाया जो लंबे समय से विद्यालय में अनुपस्थित रहे, लेकिन उनका कोई ब्योरा पंजिका में नहीं था। ऐसे में इन शिक्षकों पर निलंबन की कार्रवाई की गई है।



केस 1
पिंडरा ब्लॉक के कंपोजिट विद्यालय परसादपुर में अनुदेशिका बिना किसी सूचना एवं अवकाश के 31 अगस्त से छह सितंबर अनुपस्थित रहीं।  उपस्थिति पंजिका में न तो अवकाश दर्ज किया गया था और न ही क्रॉस किया गया था। अनुदेशिका का हस्ताक्षर प्रधानाध्यापक द्वारा उपस्थिति पंजिका में बनाया गया। ऐसे में प्रधानाध्यापक को बीएसए ने निलंबित कर दिया है।



केस दो 
प्राथमिक विद्यालय पतिराजपुर में सहायक अध्यापक बिना सूचना 12 सितंबर से अनुपस्थित रही।
प्रधानाध्यापक से 13 सितंबर से 20 अक्तूबर तक का बाल्य देखभाल अवकाश स्वीकृत कराकर इसकी सूचना जानबूझकर विभाग के उच्च अधिकारियों एवं संबंधित बीआरसी को नहीं दी। इसे देखते हुए बीएसए ने सहायक अध्यापक व प्रधानाध्यापक दोनों को निलंबित कर दिया है।