आदेश: डीबीटी के भुगतान की प्रक्रिया जल्द शुरू करें

सरकारी व एडेड स्कूलों के विद्यार्थियों को दी जाने वाली डीबीटी की धनराशि जल्द अभिभावकों के बैंक खातों में पहुंचेंगी। बेसिक शिक्षा निदेशक सर्वेन्द्र विक्रम बहादुर सिंह ने वित्त व लेखाधिकारी व बेसिक शिक्षा अधिकारी को आदेश जारी करते हुए भुगतान की प्रक्रिया शुरू करने के निर्देश दिए हैं। डीबीटी के रूप में 1100 रुपये देने पर सहमति बनी है। इससे लगभग 1.80 करोड़ बच्चों को लाभ होगा।


आदेश के साथ ही पीएफएमएस पोर्टल के माध्यम से भुगतान की प्रक्रिया भी भेजी गई है ताकि भुगतान के समय दिक्कत न हो। वित्त व लेखाधिकारी को डाटा एप्रूवर व बीएसए को डाटा ऑपरेटर की आईडी दी गई है। पीएफएमएस पोर्टल पर लाभार्थी विद्यार्थियों के अभिभावकों का आधार सीडेड / नॉन सीडेड डाटा है। इनका परीक्षण पूरा हो गया है। केवल उन्हीं खातों में भुगतान किया जाएगा जिनमें पिछले दो महीनों में पैसों का लेनदेन हुआ हो।

डीबीटी की प्रक्रिया त्रुटिरहित बनाने के लिए समग्र शिक्षा अभियान में पीएफएमएस सेल बनी है और यहां पर तैनात पांच अधिकारियों सर्वेश कुमार, विपिन शुक्ला, दुर्गेश प्रजापति, मनोज कुमार, अमृत जायसवाल को 15-15 जिलों की जिम्मेदारी सौंपी गई है।


1100 की धनराशि मिलेगी

600 रुपये: दो जोड़ा यूनिफार्म

125 रुपये: एक जोड़ी जूता मोजा

200 रुपये: स्वेटर

175 रुपये: स्कूल बैग