कर्मचारियों को दीपावली से पहले डीए मिलना मुश्किल, अंतिम कार्यदिवस तक डीए व डीआर पर नहीं हो सका कोई फैसला


लखनऊ। प्रदेश के कर्मचारियों व पेंशनरों को दीपावली के पहले महंगाई भत्ते (डीए) व महंगाई राहत (डीआर) का भुगतान मिलना मुश्किल है। अक्तूबर के अंतिम कार्यदिवस तक डीए व डीआर की मंजूरी से संबंधित कार्यवाही नहीं हो सकी।


सूत्रों ने बताया कि वित्त विभाग ने जुलाई से बढ़े तीन प्रतिशत डीए व डीआर भुगतान की पत्रावली तैयार कर रखी थी। मगर, उच्च स्तर से निर्देश के इंतजार में इसे आगे नहीं बढ़ाया गया। शुक्रवार को सचिवालय का अंतिम कार्यदिवस था, लेकिन डीए व डीआर भुगतान को लेकर कोई निर्णय नहीं हो सका। साथ ही ज्यादातर विभागाध्यक्षों के स्तर से अक्तूबर के वेतन का भुगतान एक नवंबर को सुनिश्चित करने के लिए वेतन बिल कोषागारों को भेज दिए गए। जानकार बताते हैं कि इन परिस्थितियों अक्तूबर के वेतन के साथ डीए व डीआर का भुगतान नहीं हो पाएगा। हालांकि, दीपावली चार व पांच नवंबर में है। ऐसे में यदि सरकार चाहे तो एक-दो नवंबर में निर्णय लेकर कोषागार से अलग से भुगतान का आदेश कर सकती है।