शिक्षण कौशल बढ़ाने के लिए परिषदीय स्कूलों में बनेंगे पुस्तकालय

सुल्तानपुर। छात्र-छात्राओं के शिक्षण कौशल को बढ़ाने के लिए सभी परिषदीय विद्यालयों में एक-एक पुस्तकालय की स्थापना की जाएगी। पुस्तकालय को एनसीईआरटी, एनबीटी की पुस्तकों तथा विभिन्न शिक्षण सामग्री उपलब्ध कराई जाएगी।


विद्यालय स्तर पर रीडिंग कॉर्नर बनाने के लिए स्कूल शिक्षा की महानिदेशक अनामिका सिंह ने निर्देश जारी किए हैं। इसके मुताबिक विद्यालयों में अध्ययन सामग्री से सुसज्जित एक पुस्तकालय की स्थापना की जानी है और उसे क्रियाशील बनाया जाना है। जिन विद्यालयों में पुस्तकालय के लिए अलग से कक्ष उपलब्ध नहीं है, वहां प्रत्येक कक्षा में रीडिंग कॉर्नर बनाया जाएगा। पुस्तकालय का उपयोग बच्चों की पठन क्षमता के विकास के साथ-साथ शैक्षिक कौशल, स्वतंत्र चिंतन, सामाजिक सांस्कृतिक जानकारी में अभिवृद्धि तथा अन्य विषयों में अभिरुचि के विकास में सहायक सिद्ध होगा।

बच्चों में पुस्तकालय की पुस्तकों का प्रभावी उपयोग सुनिश्चित करने व उनमें पढ़ने की आदत विकसित करने के लिए निर्धारित समय सारिणी के अनुसार आवंटित कालांश में बच्चों को पाठयक्रम आधारित पुस्तकों के अतिरिक्त अन्य पुस्तकें भी उपलब्ध कराई जाएंगी। जिला बेसिक शिक्षा अधिकारी दीवान सिंह यादव ने सभी खंड शिक्षा अधिकारियों को पत्र जारी कर जिले के सभी परिषदीय विद्यालयों में पुस्तकालय/रीडिंग कॉर्नर बनाने और उसका उपयोग करने के लिए निर्देश जारी किए हैं। साथ ही यह भी कहा है कि सभी बीईओ विद्यालय भ्रमण व निरीक्षण के दौरान पुस्तकालय स्थापना व उसके क्रियाकलापों के बारे में नियमित परीक्षण करें।