प्रधानाध्यापिका पर अनियमिता बरतने और सहायक अध्यापक पर स्कूल में झगड़ा करने का आरोप, दोनों सस्पेंड

बुलंदशहर। बेसिक शिक्षा अधिकारी ने एक प्रधानाध्यापिका और सहायक अध्यापक को निलंबित कर दिया है। साथ ही एक शिक्षामित्र का वेतन रोकने का निर्देश जारी किया है। प्रधानाध्यापिका पर अनियमिता बरतने और सहायक अध्यापक पर स्कूल में झगड़ा करने का आरोप है।

बेसिक शिक्षा अधिकारी अखंड प्रताप सिंह ने बताया कि जहांगीराबाद क्षेत्र के गांव जसर स्थित प्राथमिक विद्यालय के सहायक अध्यापक मेराज अली को निलंबित कर दिया गया है। मेराज अली पर आरोप है कि उसने पत्नी के साथ स्कूल में पहुंचकर किसी बात को लेकर एक शिक्षक के साथ झगड़ा किया था। इसकी जानकारी मिलने पर क्षेत्र के एबीएसए ने जांच की थी। साथ ही जांच के निर्देश जारी कर उसे ऊंचागांव क्षेत्र के गांव मल्लागढ़ी स्थित स्कूल में अटैच कर दिया है। दूसरी ओर गांव बंगला पुठरी स्थित विभाग के स्कूल की प्रधानाध्यापिका संतोष शर्मा को निलंबित किया गया है। क्षेत्र के एबीएसए ने जांच रिपोर्ट देकर अवगत करवाया था कि निरीक्षण के दौरान स्कूल की पंजिका अधूरी मिली। एमडीएम के तहत बनाए जाने वाला भोजन नियमानुसार बनता नहीं मिला और डीबीटी का काम भी अभी तक शुरू नहीं किया गया। जांच में यह भी खुलासा हुआ कि एक शिक्षामित्र की उपस्थिति भी बिना स्कूल आए लगाई जा रही थी। संतोष शर्मा को निलंबित कर आगामी जांच के निर्देश करते हुए उसे गांव पोंडरी स्थित स्कूल में अटैच कर दिया है। इसी तरह सिकंदराबाद क्षेत्र के उच्च प्राथमिक विद्यालय की शिक्षामित्र दीपिका मौर्य के वेतन रोकने का निर्देश जारी किया गया है। एबीएसए ने रिपोर्ट दी थी कि दीपिका मौर्य ने एक विभागीय प्रशिक्षण में भागीदारी नहीं की है। बीएसए ने शिक्षक और शिक्षामित्र आदि कर्मचारियों को चेतावनी दी है कि उनके द्वारा की जाने वाली किसी भी तरह की कोताही को बर्दाश्त नहीं किया जाएगा।