शिक्षकों-कर्मचारियों ने पुरानी पेंशन बहाली को लेकर दिया धरना

 लखनऊ : प्रदेश भर में गुरुवार को शिक्षकों व कर्मचारियों ने पुरानी पेंशन बहाली सहित 11 सूत्रीय मांगों को लेकर धरना दिया। सभी जिला मुख्यालयों पर प्रदर्शन कर डीएम के माध्यम से मुख्यमंत्री को ज्ञापन प्रेषित किया। राजधानी में डीएम आवास के सामने सरोजनी नायडू पार्क में बड़ी संख्या में उपस्थित शिक्षक व कर्मचारियों ने नारेबाजी की और उम्मीद जताई कि सरकार उनकी मांगें जल्द पूरा करेगी। अगर ऐसा नहीं हुआ तो आगे आंदोलन और तेज किया जाएगा।


कर्मचारी, शिक्षक, अधिकारी एवं पेंशनर्स अधिकार मंच (उप्र) के प्रदेश अध्यक्ष डा. दिनेश चंद्र शर्मा ने कहा कि राज्य सरकार शिक्षकों व कर्मचारियों की मांगों को लगातार नजरअंदाज कर रही है।

शिक्षा मित्रों और अनुदेशकों का अभी तक स्थायीकरण नहीं किया गया। कैशलेस चिकित्सा सुविधा का लाभ अभी तक नहीं दिया गया। कर्मचारियों के रिक्त पदों को पदोन्नति से भरे जाने की मांग भी अब तक पूरी नहीं हुई। शिक्षक नेता डा. आरपी मिश्र ने कहा कि सरकार हमारी मांगों को अनसुना कर आंदोलन की राह पर चलने को मजबूर कर रही है। मंच के जिलाध्यक्ष सुधांशु मोहन ने कहा कि शिक्षक व कर्मचारी अन्याय के खिलाफ एकजुट हैं और मांगें पूरी होने तक लड़ाई जारी रहेगी।

डीएम आवास के निकट गुसरोजनी नायडू पार्क में धरना देते (बाएं से) कर्मचारी,शिक्षक, पेंशनर्स अधिकार मंच के प्रधान सचिव सुशील कुमार त्रिपाठी, अर¨वद कुमार, प्राथमिक शिक्षक संघ के प्रदेश अध्यक्ष ड़ॉ दिनेश चंद्र शर्मा, संजय सिंह, आरपी मिश्र, शिव शंकर दुबे ’जागरण