बच्चे पहुंचे तो प्राथमिक स्कूल पर लटका मिला ताला, शिक्षक गायब: परिजनों ने लगाये यह आरोप

गाजियाबाद। कैला भट्ठा स्थित प्राइमरी स्कूल में बृहस्पतिवार को बच्चे पहुंचे, लेकिन दरवाजे पर ताला लटका मिला। दो घंटे इंतजार करने के बाद बच्चे घर लौट गए। उनका कहना है कि मैडम अक्सर लेट आती हैं, लेकिन हम इंतजार कर लेते हैं। वहीं, स्थानीय लोगों का कहना है कि स्कूल की शिक्षिकाएं बच्चों की छुट्टी भी अपनी सहूलियत के हिसाब से पहले कर देती हैं।

बृहस्पतिवार को कैला जनरल प्राथमिक विद्यालय पर छात्र-छात्राओं की कतार लगी थी। कई बच्चों के परिजन उन्हें स्कूल छोड़ने आए, लेकिन उन्हें लंबा इंतजार करना पड़ा। सुबह करीब 10 बजे तक स्कूल का ताला नहीं खुला। स्कूली बच्चों और उन्हें छोड़ने आए परिजनों ने बताया कि स्कूल में एक शिक्षिका और एक शिक्षामित्र तैनात हैं, लेकिन दोनों ही समय पर नहीं आती हैं। बच्चे उनका इंतजार करते रहते हैं, लेकिन मैडम दो घंटे लेट आती हैं। उनका आरोप है कि निर्धारित समय से पहले ही करीब 12 बजे स्कूल बंद कर दोनों शिक्षिकाएं घर चली जाती हैं।

----
बयान
प्राथमिक विद्यालय में दोनों शिक्षिकाएं अक्सर अनुपस्थित रहती हैं और देरी से आना तो इनका रोजाना का काम हैं। इनकी शिकायत पूर्व में बीएसए से की जा चुकी है। औचक निरीक्षण में अनुपस्थित पाए जाने पर भी शिक्षा अधिकारियों ने कार्रवाई नहीं की। सरकार का बेटी पढ़ाओ, बेटी बचाओ के नारे को यह झूठा साबित कर रही हैं। - जाकिर सैफी, स्थानीय पार्षद
----
मामला मेरे संज्ञान में अभी तक नहीं था। स्कूल पर ताला लगने का मामला गंभीर है। संबंधित खंड शिक्षा अधिकारी से जांच कराकर स्कूल के स्टाफ के खिलाफ कार्रवाई की जाएगी। - बृजभूषण चौधरी, बीएसए