कार में लिफ्ट देकर शिक्षिका के जेवरात और रुपये लूटे


दनकौर । यमुना एक्सप्रेसवे पर शनिवार को लिफ्ट देकर शिक्षिका से पांच हजार रुपये और लाखों के जेवरात लेकर कार सवार चार बदमाश फरार हो गए। घटना के बाद आरोपी महिला और उसकी सास को जेवर क्षेत्र में छोड़ गए। शिक्षिका ने फोन कर मामले की शिकायत की है। वहीं पुलिस ने कहा है मामले में लिखित शिकायत नहीं मिली है।




मूलरूप से इटावा निवासी अनामिका भदौरिया दनकौर के एक इंटर कॉलेज में शिक्षिका हैं। शनिवार सुबह वह सास के साथ राजस्थान स्थित ससुराल जा रही थीं। गलगोटिया यूनिवर्सिटी के नजदीक स्थित यमुना एक्सप्रेसवे पर खड़े होकर मथुरा जाने के लिए वाहन का इंतजार कर रही थी। उसी दौरान एसयूवी सवार लोगों ने सास-बहू को लिफ्ट देकर बैठा लिया। आरोपियों ने महिलाओं के बैग को अपनी सीट के नीचे रख लिया। आरोप है कि एसयूवी सवार बदमाशों ने बैग में रखे करीब 5 हजार रुपये और लाखों रुपये की जूलरी निकाल ली। जिसकी भनक पीड़ित सास-बहू को नहीं हुई।
जेवर से कुछ दूरी पर दोनों सास-बहू को यह कहकर कार से उतार दिया कि आगे आरटीओ चेकिंग कर रहे हैं। दोनों सास-बहू बैग लेकर वहीं उतर गईं। थोड़ी देर बाद जब पीड़िता ने देखा कि बैग की चेन फेवीक्विक से चिपकाया गया था। काफी जद्दोजहद के बाद चेन को तोड़कर बैग खोला तो नकदी व कीमती सामान गायब थे। पीड़िता ने उसके बाद डायल-112 पर कॉल करके अपने साथ हुई घटना की जानकारी पुलिस को दी। शिक्षिका का कहना है कि वह रविवार को करवाचौथ का त्यौहार होने की वजह से अपने ससुराल के लिए दनकौर से ही सोने के गहने बनवाकर जा रही थी