अवकाश सूची विश्लेषण: अगले साल कई पर्व रविवार को, अक्तूबर में सर्वाधिक छुट्टियां, अगले साल राज्य कर्मियों को कम छुट्टियों से करना होगा गुजारा


अवकाश सूची जारी
● अगले साल राज्य कर्मियों को कम छुट्टियों से करना होगा गुजारा
● सरकार ने जारी की 2022 के लिए सार्वजनिक अवकाश की सूची


अगले साल राज्य कर्मचारियों को अपेक्षाकृत कम छुट्टियों से गुजारा करना होगा। वजह है कि अगले साल 24 सार्वजनिक अवकाश में पांच तो रविवार को पड़ रहे हैं जबकि रविवार को पहले से ही अवकाश होता है। वर्ष 2022 चुनावी मौसम व नई सरकार बनने का साल है। ऐसे में मतदान के दिन अलग से अवकाश सबको मिलेगा।

यूपी सरकार ने इस बार वर्ष 2022 के लिए सार्वजनिक अवकाश, निर्बंधित अवकाश की सूची जारी कर दी है। साल की पहली छुट्टी जनवरी में गणतंत्र दिवस के उपलक्ष्य में बुधवार को पड़ेगी। मार्च के महीने में होली का अवकाश 17 मार्च (गुरुवार) व 18 मार्च (शुक्रवार) को पड़ेगा। पांच दिनी कार्यदिवस वाले कार्यालयों में कार्यरत कर्मचारियों को शनिवार व रविवार को अवकाश होने के कारण चार दिन लगातार छुट्टी मिलेगी।

इसी तरह अप्रैल में गुरुवार 14 अप्रैल को अम्बेडकर जयंती व 15 अप्रैल को गुड फ्राइडे का अवकाश है। शनिवार व रविवार को जोड़ लें तो फिर चार दिन सरकारी दफ्तर बंद रहेंगे। मई महीने में ईद के लिए फिलहाल 3 मई मंगलवार को अवकाश रहेगा। अगस्त के महीने में चार छुट्टियां हैं। 9 अगस्त मंगलवार को फिलहाल मोहर्रम का अवकाश रहेगा। अगस्त में ही चार दिन लगातार अवकाश पड़ रहा है। 12 अगस्त शुक्रवार को रक्षाबंधन का अवकाश है। शनिवार व रविवार को नियमित अवकाश के बाद सोमवार को स्वतंत्रता दिवस है। इस तरह चार दिन का लगातार अवकाश कर्मचारियों को उपलब्ध रहेगा। ईद, बकरीद, मोहर्रम व बारावफात स्थानीय चंद्र दर्शन के अनुसार मनाए जाएंगे। 29 निर्बन्धित अवकाश की सूची भी जारी हुई है। एक अप्रैल को बैंकों की सालाना लेखाबंदी होगी। इसके अलावा कार्यकारी आदेश के तहत गुरु गोविंद सिंह जयंती (9 जनवरी), गुरु तेग बहादुर शहीद दिवस (24 नवंबर), व गुरु गोविंद सिंह जयंती (29 दिसंबर) पर अवकाश होगा। लेकिन यह अवकाश पांच दिन कार्यदिवस वाले कार्यालयों में लागू नहीं होंगे।



अक्तूबर में सर्वाधिक छुट्टियां
अक्तूबर में दो को गांधी जयंती, 4 को महानवमी, 5 को दशहरा का अवकाश रहेगा। 9 अक्तूबर को वारावफात है। दीपावली के उपलक्ष्य में 24, 26, 27 अक्तूबर को अवकाश रहेगा।