वित्तीय अनियमितता के आरोप में पहले शिक्षक, अब चतुर्थ श्रेणी कर्मचारी निलंबित: मिलकर किया धन का बंदरबांट

हाथरस :वित्तीय अनियमितता के आरोप में अब पूर्व माध्यमिक विद्यालय के एक चतुर्थ श्रेणी कर्मचारी को भी निलंबित कर दिया गया है। यहां के प्रभारी प्रधानाचार्य को पहले ही निलंबित किया जा चुका है। आरोप है कि विद्यालय की प्रबंध समिति खाते से वित्तीय वर्ष 2017-18 में थ्री-सीटर बेंच क्रय करने के लिए भेजी गई धनराशि में हेराफेरी की गई।

फर्नीचर आपूर्ति किए जाने के बाद भी संजय कुमार शर्मा, प्रभारी प्रधानाध्यापक द्वारा फर्म श्याम फर्नीचर, झांसी को धनराशि 4,47,244 भुगतान न करके इस विद्यालय में कार्यरत महावीर, चतुर्थ श्रेणी कर्मचारी से मिलकर 29 जून 2018 से चार जनवरी 2020 तक इस खाते में जमा धनराशि में से 6,22,100 रुपए का विभिन्न चेकों के माध्यम से महावीर, चतुर्थ श्रेणी कर्मचारी द्वारा नियम विरुद्ध आहरण कराकर गबन किया गया।


जिसे लेकर पहले प्रधानाध्यापक और अब चतुर्थ श्रेणी कर्मचारी के खिलाफ निलंबन की कार्रवाई की गई है। अभिभावकों के खाते में एमडीएम कन्वर्जन कॉस्ट की धनराशि को नहीं भेजा गया। इसे भी 17 जून 2021 से 13 अगस्त 2021 तक विद्यालय के प्रभारी प्रधानाध्यापक संजय कुमार शर्मा द्वारा खुद 3,82,000 रुपए और अजय तोमर अनुदेशक द्वारा 70,500 रुपए और महावीर चतुर्थ श्रेणी कर्मचारी द्वारा 1,10,000 रुपए यानी कुल 5,62,500 रुपए निकलवा ली गई है।
संजय कुमार शर्मा द्वारा महावीर, चतुर्थ श्रेणी कर्मचारी के नाम से चेक काटकर 6,22,100 रुपए, 1,10,00 रुपये और 7,32,100 रुपयों को नियम विरुद्ध निकाल कर गबन किया गया है। जिसे लेकर अब बीएसए ने महावीर के खिलाफ निलंबन की कार्रवाई की है। निलंबन अवधि में इस कर्मचारी को कार्यालय, खंड शिक्षा अधिकारी, सहपऊ से संबद्ध किया गया है।