शिक्षक मेज पर पैर रखकर कक्षा में सोने के वीडियो की जांच करने पहुंचे एबीएसए, शिक्षकों को लगाई फटकार, भविष्य में ऐसी गलती न करने की दी चेतावनी


इलिया /चंदौली: क्षेत्र के प्राथमिक विद्यालय भुंड कुंडा में छात्रों द्वारा मिड डे मील बनाए जाने और शिक्षक का मैच पर पैर रखकर कक्षा में सोने का वीडियो वायरल होने के बाद शनिवार को खंड शिक्षा अधिकारी अरविंद कुमार यादव ने विद्यालय पहुंचकर मामले की पड़ताल की। दोनों ही मामलों में अधिकारी ने संबंधित अध्यापक को फटकार लगाते हुए भविष्य में इस तरह की गलती दोबारा नहीं करने की चेतावनी दी। उन्होंने बताया कि दोनों ही मामलों की जांच रिपोर्ट बीएसए को भेजी जाएगी।



खंड शिक्षा अधिकारी अरविंद कुमार यादव शनिवार को जांच के लिए सबसे पहले भुड़कुंडा स्थिति प्राथमिक विद्यालय पहुंचे जहां उन्होंने प्रधानाध्यापिका सरिता देवी से वायरल वीडियो के बाबत पूछताछ की। इस दौरान प्रधानाध्यापक ने बताया कि वह वीडियो सितंबर माह का है।

जबकि बृहस्पतिवार को विद्यालय में मिड डे मील मैं रोटी और दाल बनी थी। बताया कि विद्यालय में दो रसोईया है जिसमें एक के हाथ में चोट लगी तो दूसरे को टाइफाइड हो गया था। खंड शिक्षा अधिकारी ने बच्चों से भी पूछताछ की। जिसमें बच्चों ने बृहस्पतिवार को रोटी दाल मिलने की बात बताई जांच में विद्यालय में 186 बच्चे के सापेक्ष में सिर्फ 86 बच्चे ही विद्यालय में उपस्थित मिले। विजय की छात्र उपस्थिति पंजिका पर छात्रों की संख्या ज्यादा मिली। जिस पर बीईओ ने प्रधानाध्यापक सरिता देवी को फटकार लगाई कहा कि भविष्य में इस तरह की गलती मिलने पर सख्त कार्रवाई की जाएगी।

इसके बाद खंड शिक्षा अधिकारी डेहरी कला गांव स्थित विद्यालय पर पहुंचे जहां उन्होंने कुर्सी पर पैर रखकर शिक्षक के सोने के मामले में पूछताछ की। जिसमें विद्यालय की शिक्षा मित्र लक्ष्मण प्रसाद को पिछले दिनों पैर में चोट लगने के कारण कुर्सी पर पैर रखने की बात सामने आई। बीयू ने प्रधानाध्यापक तथा शिक्षामित्र लक्ष्मण प्रसाद को फटकार लगाते हुए भविष्य में इस तरह की गलती नहीं हो रहा है जाने का निर्देश दिया।