विशेष नोट व स्पष्टीकरण:-👉 Updatemarts.com नाम से मिलती-जुलती वेबसाइट से सावधान रहें, ये सभी नकली हैं, 🙏वेबसाइट प्रयोग करते समय Updatemarts के आगे डॉट .com अवश्य चेक कर लें, धन्यवाद

नहीं आए शिक्षा निदेशक फिर अटकी डीपीसी: पदोन्नति पाने का इंतजार कर रहे शिक्षकों में निराशा

प्रयागराज : राजकीय माध्यमिक विद्यालयों (जाआइसी) के शिक्षकों की पदोन्नति के लिए उत्तर प्रदेश लोक सेवा आयोग तिथि पर तिथि घोषित कर रहा है लेकिन विभागीय पदोन्नति समिति (डीपीसी) की बैठक न हो पाने से सहायक अध्यापकों की किस्मत के दरवाजे नहीं खुल रहे हैैं। गुरुवार को लोक सेवा आयोग में आयोजित डीपीसी में माध्यमिक शिक्षा निदेशक के न आने से एक बार फिर उन शिक्षकों को निराश होना पड़ा, जो पदोन्नति पाने का


इंतजार कर रहे थे। राजकीय शिक्षक संघ की मांग पर लोक सेवा आयोग ने अगली डीपीसी की तिथि 12 अक्टूबर निर्धारित करते हुए अपर शिक्षा निदेशक माध्यमिक को पत्र लिखा है। इसके पहले 2009 में डीपीसी हुई थी। करीब 12 साल से डीपीसी नहीं हुई, जिससे प्रवक्ता संवर्ग पद पर सहायक अध्यापकों की पदोन्नति अटकी है। गुरुवार को डीपीसी में 794 एलटी की प्रवक्ता पद पर पदोन्नति होनी थी, लेकिन नहीं हो सकी। राजकीय शिक्षक संघ पाण्डेय गुट के प्रांतीय महामंत्री रामेश्वर प्रसाद पाण्डेय के अनुसार जून से अब तक चार बार लोक सेवा आयोग डीपीसी की तिथि तय कर चुका है। दो तिथियों में माध्यमिक शिक्षा निदेशक के न आने से डीपीसी नहीं हुई। तीसरी तिथि पर शिक्षा निदेशक आए तो लेकिन गोपनीय आख्या पूर्ण नहीं होने पर पदोन्नति पर मुहर नहीं लग सकी। इस स्थिति पर लोक सेवा आयोग ने माध्यमिक शिक्षा निदेशक को जिम्मेदारों पर सख्ती करने को कहा था, ताकि आगे से ऐसी स्थिति न आए। ऐसे में राजकीय शिक्षक संघ ने लोक सेवा आयोग के सदस्यों से अनुरोध किया कि जिनकी आख्या पूरी है उनकी डीपीसी कर दी जानी चाहिए। इसके बाद आयोग ने सात अक्टूबर की तिथि निर्धारित की, लेकिन डीपीसी नहीं हो सकी। अब अगली तिथि 12 अक्टूबर निर्धारित करते हुए लोक सेवा आयोग के संयुक्त सचिव ओम प्रकाश मिश्र ने अपर शिक्षा निदेशक माध्यमिक नियुक्ति-2 अनुभाग को प्रवक्ता संवर्ग पुरुष शाखा में मौलिक पदोन्नति के लिए चयन के संबंध में पत्र भेजा है।