विशेष नोट व स्पष्टीकरण:-👉 Updatemarts.com नाम से मिलती-जुलती वेबसाइट से सावधान रहें, ये सभी नकली हैं, 🙏वेबसाइट प्रयोग करते समय Updatemarts के आगे डॉट .com अवश्य चेक कर लें, धन्यवाद

जान हथेली पर रखकर स्कूल पहुंचते बच्चे

चंदौली:  पीडीडीयू नगर/ नौगढ़। विकासखंड के प्राथमिक विद्यालय, सेमर साधोपुर के बच्चे जान जोखिम में डालकर कमर भर पानी से पढ़ने जाते हैं। बारिश की वजह से नौगढ़ बांध का पानी स्कूल को तीन तरफ से पूरा घेर चुका है। ऐसे में स्कूल के स्टॉफ और बच्चों को पानी से होकर ही आना-जाना पड़ता है। वहीं स्कूल में विषैले जानवर भी निकलने लगे हैं। पानी और विषैले जानवरों के डर से दिन प्रतिदिन स्कूल आने वाले बच्चों की संख्या कम हो रही है।


विकास खंड का प्राथमिक विद्यालय, सेमर साधोपुर संभवतः जिले का पहला स्कूल है, जहां बच्चे कमर भर पानी से होकर स्कूल जाते हैं। स्कूल का मुख्य रास्ता पूरी तरह पानी से डूब चुका है। स्कूल की तलहटी तक पानी चला गया है। ग्रामीणों ने बताया कि बांध के पानी की धार कभी भी किसी बच्चे को बहाकर ले जा सकती हैं। इसके अलावा आए दिन बांध में मगरमच्छ भी दिखते रहते हैं। पिछले वर्ष स्कूल में कई मगरमच्छ के बच्चे दिखे थे जिसके चलते 15 दिनों तक विद्यालय बंद भी था। इस बार भी ऐसी घटना हो सकती है।



ग्रामीणों का कहना है कि धूप होने के बाद मगरमच्छ बाहर आते हैं। ऐसे में बच्चों को स्कूल जाना पूरी तरह खतरनाक है। लगातार बारिश के चलते बांध का पानी भरने से स्कूल में जाने वाले बच्चों की संख्या भी आधी हो गई है। प्रधानाध्यापक सेराज अहमद ने बताया कि यह समस्या पांच साल पुरानी है। कई बार संबंधित अधिकारियों से शिकायत की गई फिर भी जलनिकासी या समस्या के समाधान की कोई व्यवस्था नहीं हो सकी।

आंगनबाड़ी केंद्र के छोटे बच्चों को ज्यादा दिक्कत
सेमर साधोपुर प्राथमिक विद्यालय परिसर में ही आंगनबाड़ी केंद्र का भी संचालन होता है। स्कूल चारो तरफ से पानी से घिर गया है। ऐसे में आंगनबाड़ी केंद्र के छोटे बच्चों को आने में सबसे ज्यादा दिक्कत होती है। बच्चों की संख्या काफी कम हो गई है। जो आते भी हैं उन्हें परिजन पानी से होकर ले आते हैं।