गलत दस्तावेज तैयार कर परिषदीय शिक्षक को बचाने के आरोप, दो शिक्षक निलंबित

बुलंदशहर। गलत दस्तावेज तैयार कर एक शिक्षक को बचाने और उसे विभागीय लाभ दिलाने के आरोप में बीएसए ने दो शिक्षकों को निलंबित कर दिया है। इन दोनों शिक्षकों पर आरोप है कि उन्होंने जेल में बंद रहे एक शिक्षक के गलत दस्तावेज तैयार कर उसे विभागीय लाभ पहुंचाया।

बेसिक शिक्षा अधिकारी अखंड प्रताप सिंह ने बताया कि अनूपशहर क्षेत्र के गांव एचोरा स्थित उच्च प्राथमिक विद्यालय में तैनात एक शिक्षक पिछले दिनों एक मामले में जेल में बंद रहा था। इसकी विभाग को एक शिकायत मिली थी। शिकायत में आरोप लगाया गया था कि जेल में बंद रहे शिक्षक को संबंधित विद्यालय के दो शिक्षकों ने उसे बचाने और विभाग से लाभ दिलाने के लिए गलत दस्तावेज तैयार कर लिए। इस तरह से उक्त शिक्षकों ने विभाग को गुमराह करने के साथ धोखाधड़ी की है। शिकायत मिलने पर जब जांच करवाई गई तो जेल में बंद रहे शिक्षक के बनाए गए दस्तावेज गलत पाए गए। इसकी रिपोर्ट जांच करने वाले अधिकारियों ने तैयार कर सौंप दी है। पूरे मामले का खुलासा होने पर स्कूल की प्रधानाध्यापिका प्रभा शर्मा और सहायक अध्यापक रविंद्र कुमार को तत्काल प्रभाव से निलंबित कर दिया है। इन दोनों की आगामी जांच के लिए भी अधिकारी नामित कर दिए हैं।

यह था पूरा मामला
तहसील अनूपशहर के गांव रूपवास निवासी प्रवीन कुमार शर्मा उर्फ पप्पू इसी क्षेत्र के गांव एचोरा स्थित उच्च प्राथमिक विद्यालय में सहायक अध्यापक के पद पर तैनात था। पिछले दिनों प्रवीन कुमार एक आपराधिक मामले में जेल में बंद रहा था। उसने जेल में रहते हुए अपने को शिक्षक न दिखाकर खुद को किसान बताया था। जेल में रहते हुए इसकी जानकारी विभाग को नहीं लगी थी। वहीं, जेल से बाहर आने के बाद वह अदालत में अपनी तारीख भी करता रहा। इसकी भी विभाग को शिकायत मिली थी और विभाग ने उसके खिलाफ एफआईआर दर्ज करवाने के साथ उसे निलंबित कर दिया था।