बीएसए ने खंड शिक्षा अधिकारियों द्वारा शिक्षकों पर की कार्रवाइयों पर लगाई रोक


अलीगढ़।

जिले के खंड शिक्षा अधिकारियों द्वारा बेसिक शिक्षा विभाग के शिक्षक व शिक्षिकाओं के खिलाफ हाल में जारी किए गए कार्रवाइयों के आदेशों पर रोक लगा दी गई है। प्राथमिक शिक्षक संघ ने खंड शिक्षा अधिकारियों पर गंभीर आरोप लगाते हुए कहा कि अधिकारी रिश्वतखोरी कर रहे हैं, जो शिक्षक पैसा नहीं देता है। उसके खिलाफ वेतन काटने व निलंबन के आदेश जारी कर दिए जाते हैं। बीएसए के समक्ष लगाए गए इन आरोपों को गंभीरता से लेते हुए बीएसए सत्येंद्र कुमार ने मामले की जांच के लिए 4 सदस्य कमेटी का निर्धारण करते हुए जांच पूरी होने तक आदेशों पर तत्काल प्रभाव से रोक लगा दी है।


उत्तर प्रदेशीय प्राथमिक शिक्षक संघ की अलीगढ़ शाखा के पदाधिकारी मुकेश कुमार ने बताया कि परिषदीय विद्यालयों के शिक्षकों के खिलाफ हाल में खंड शिक्षा अधिकारियों द्वारा दुर्भावनापूर्ण कार्रवाइयां की गई हैं। भ्रष्टाचार में लिप्त खंड शिक्षा अधिकारी रिश्वत मांगते हैं, जो शिक्षक उनको पैसे नहीं देते हैं। उनके खिलाफ कार्रवाई के आदेश जारी कर उच्च अधिकारियों को गुमराह कर रहे हैं। इस संबंध में बीएसए सत्येंद्र कुमार से वार्ता की गई। उनके समक्ष सभी आरोपों को रखा गया। आरोपों की सुनवाई करते हुए उन्होंने आदेश दिया है कि हाल में जारी सभी आदेशों पर तत्काल प्रभाव से रोक लगाई जाती है। मामलों की जांच के लिए 4 सदस्य कमेटी का निर्धारण किया गया है, जिसमें खंड शिक्षा अधिकारी मुख्यालय कैलाश चंद पांडेय, खंड शिक्षा अधिकारी धनीपुर आलोक प्रताप, खंड शिक्षा अधिकारी चंडौस अनिल कुमार, खंड शिक्षा अधिकारी नगर हेमलता को शामिल किया गया है। इनके द्वारा जांच पूरी कर रिपोर्ट दी जाएगी। उसके बाद कार्रवाइयों के संबंध में फैसला लिया जाएगा।