प्राथमिक विद्यालय के निरीक्षण के दौरान नोडल अधिकारी ने पूछा कक्षा तीन का छात्र नहीं लिख सका एफ



फतेहाबाद। अपर मुख्य सचिव सचिवालय प्रशासन हेमंत राव ने बृहस्पतिवार को फतेहाबाद के गांव रसूलपुर में निरीक्षण किया। यहां कायाकल्प मिशन के तहत हो रहे कार्यों का निरीक्षण करने प्राथमिक विद्यालय पहुंचे। जहां कक्षाएं चल रही थीं। नोडल अधिकारी ने कक्षा तीन में एक छात्र से एफ लिखने को कहा, तो वह नहीं लिख सका। नाराजगी जाहिर करते हुए उन्होंने शिक्षक को शिक्षा में सुधार लाने के निर्देश दिए हैं।


मुख्य विकास अधिकारी ए मणिकन्डन और सीएमओ डॉ. अरुण कुमार श्रीवास्तव के साथ दिन में करीब 11 बजे अपर मुख्य सचिव हेमंत राव रसूलपुर पहुंचे। यहां शत प्रतिशत लोगों द्वारा टीके की दोनों खुराक लेने पर उन्होंने सराहना की। पंचायत भवन, सुलभ शौचालय, नाली, खड़ंजा देखने के साथ ग्रामीणों से समस्याएं पूछी। ग्रामीणों ने योजनाओं से लाभ मिलने की बात कही। फिर कायाकल्प के तहत हुए कार्यों को देखने सरकारी विद्यालय में गए। जहां वह शिक्षा देने के तरीके से संतुष्ट नजर नहीं आए। छात्र से पूछा तो वह ब्लैक बॉर्ड पर एफ नहीं लिख सका।

अपर मुख्य सचिव रसूलपुर से सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र फतेहाबाद पहुंचे। जहां उन्होंने कोल्ड चेन, डेंगू वार्ड को देखा। साफ-सफाई पर्याप्त मिली। अधीक्षक से गोल्डन कार्ड बनने और वितरण किए जाने के बारे में पूछा। अन्य गांवों में टीकाकरण की स्थिति के बारे में जाना। मौके पर एसडीएम जेपी पांडेय, डिप्टी सीएमओ वीरेंद्र भारती, सीएचली अधीक्षक डॉ. एके सिंह, खंड विकास अधिकारी मंगल यादव आदि मौजूद रहे।
दो दिन के आगरा निरीक्षण पर आए नोडल अधिकारी फतेहाबाद से लौटने के बाद शाम चार बजे लखनऊ के लिए रवाना हो गए। सीडीओ के मुताबिक रसूलपुर की तरह अन्य गांव में भी टीकाकरण प्रोत्साहन के लिए एक नवंबर से अभियान शुरू किया जाएगा।