DBT के लिए अभिभावकों को खाते से लिंक करना होगा आधार कार्ड-मोबाइल नंबर, तब आएगी धनराशि


ग्रेटर नोएडा।

बेसिक शिक्षा विभाग परिषदीय विद्यालयों में पढ़ने वाले छात्र-छात्राओं को यूनिफॉर्म, स्कूल बैग, स्वेटर और जूतों-मौजों का भुगतान जल्द करेगा। शिक्षा विभाग ने निर्देश दिया है कि बच्चों के अभिभावकों का बैंक खाता नंबर विद्यालयों को मुहैया कराया जाए, वह चालू हालत में होना चाहिए, वरना खाते में धन नहीं भेजा जा सकेगा। इसे लेकर विभाग को अभिभावकों को जागरूक करने के लिए निर्देशित किया गया है।



बेसिक शिक्षा विभाग बीते वर्षों में यूनिफॉर्म, बैग, स्वेटर और जूते-मौजे एजेंसियों के माध्यम से वितरित करता था। हर बार सामान की उपलब्धता के समय और गुणवत्ता पर सवाल उठते थे। अब बच्चों के लिए चारों सामग्री उनके अभिभावक ही खरीदें, इसके लिए उनके बैंक खाते में सीधे धन भेजा जाएगा। जिले के परिषदीय विद्यालयों में एक लाख बच्चे पढ़ाई करते हैं। अभी तक डीबीटी एप पर 53 हजार बच्चों का डाटा फीड किया जा चुका है।

जिला बेसिक शिक्षा अधिकारी धर्मेंद्र सक्सेना ने बताया कि अभिभावकों का नाम और बैंक खाता नंबर आदि से जुड़ी जानकारी को डीबीटी एप पर अपलोड किया जा रहा है। फिलहाल खंड शिक्षा अधिकारी जांच करके नाम व बैंक खाता नंबर आदि प्रमाणित कर रहे हैं, जल्द ही यह प्रक्रिया पूरी हो जाएगी। विभाग ने यह भी निर्देश दिया है कि बैंक खाता आधार कार्ड और मोबाइल नंबर से लिंक होना चाहिए। जिनका बैंक खाता आधार कार्ड व मोबाइल नंबर से लिंक नहीं है, उन्हें शिक्षक इस काम को कराने के लिए जागरूक कर रहे हैं। जिला बेसिक शिक्षा अधिकारी धर्मेंद्र सक्सेना ने बताया कि खंड शिक्षा अधिकारी, प्रधानाध्यापक और शिक्षक अभिभावकों को तत्काल अवगत कराएं कि वे बैंक खातों में लेन-देन जरूर करें, क्योंकि बैंक छह माह में धन की निकासी न होने पर खाते को निष्क्रिय कर देता है। निष्क्रिय खाते में धनराशि नहीं भेजी जा सकती है।