Super TET – जानें क्या है सुपरटेट, योग्यता, परीक्षा की पूरी जानकारी


टीईटी का नाम सुना होगा। वैसे बता दें कि यह सरकारी टीचर की जॉब से संबंधित है।  भारत में शिक्षक की सरकारी जॉब बहुत सारे लोग करना चाहते हैं, और इसीलिए दिन पर दिन प्रतियोगिता बढ़ती चली गई है।


पहले तमाम राज्य टीईटी (टीचर एलिजिबिलिटी टेस्ट) यानी टेट नामक आयोजित करवाते थे, किंतु बढ़ते हुए प्रतियोगिता के कारण उत्तर प्रदेश की आदित्यनाथ योगी सरकार ने टीईटी यानी टीचर एलिजिबिलिटी टेस्ट पास करने के बाद, सुपर टीईटी नामक एक और परीक्षा देने का नियम जारी कर दिया।

सुपर टीईटी के लिए योग्यता
अगर आप यूपी में शिक्षक बनना चाहते हैं तो सुपर टेट क्वालिफाई करना बेहद ही आवश्यक है, इसके अलावा इसके लिए योग्यता निम्नलिखित है।
बता दें कि टीचर की जॉब के लिए पहले से ही बी.एड. और बी.पी.एड और बीटीसी यानि डीएलएड भी इसी कोर्स का एक हिस्सा है।
सुपर टेट का एग्जाम देने के लिए आपको इन डिग्री के साथ टीईटी या सीटीईटी पास होना अनिवार्य है और तभी आप इस परीक्षा में बैठने के योग्य बन सकते हैं।
यूपी उत्तर प्रदेश के सरकारी स्कूलों में असिस्टेंट टीचर यानी सहायक अध्यापक बनने के लिए यूपी टीईटी के साथ सीटेट और सुपर टीईटी परीक्षा पास करना अनिवार्य कर दिया गया है।

ऐसे में केवल वे अभ्यर्थी जिनके पास सीटीईटी / यूपीटीईटी है, वे ही इसके लिए आवेदन कर सकते हैं।
सुपर टीईटी परीक्षा की बात करें तो, यूपी बेसिक एजुकेशन बोर्ड, प्राइमरी टीचर और अपर प्राइमरी टीचर एग्जाम को आयोजित कराती है। इसकी आधिकारिक वेबसाइट http://upbasiceduparishad.gov.in/ पर जानकारी आपको प्राप्त हो जाएगी।


सुपर टीईटी का परीक्षा पैटर्न
सुपर टीईटी के परीक्षा पैटर्न से जुड़ी जानकारी निम्नलिखित है –



परीक्षा में कुल 150 प्रश्न होंगे जो बहुविकल्पीय प्रकार के होंगे, इसमे 1 प्रश्न के लिए आपको 4 विकल्प दिए गए होंगे जिसमे से आपको सही उत्तर का चुनाव करना होगा।

परीक्षा में सफल होने के लिए आपको बोर्ड द्वारा निर्धारित न्यूनतम अंक प्राप्त करना ही होगा।

सुपर टीईटी की परीक्षा ऑफलाइन पेन/पेपर आधारित आयोजित कराई जाती है।

आयु सीमा

सुपर टीईटी के लिए आयु सीमा का निर्धारण निम्नलिखित है –

न्यूनतम आयु 21 वर्ष अधिकतम आयु 40 वर्ष,आयु में छूटOBC/SC/ST (5 वर्ष) छूटदिव्यांग या असामान्य उम्मीदवारों हेतु 15 वर्ष छूट