परिषदीय बच्चों के गांव में अनोखे खेल, टायर रेस तो कोई बोरी उठाकर दौड़ा

लखनऊ : बख्शी का तालाब के भौली गांव में सोमवार को अनोखा आयोजन हुआ। महिलाओं ने भैंस दुहने में अपना दमखम दिखाया तो वहीं, पुरुष पचास किलो की बोरी लेकर दौड़े। बच्चे साइकिल का टायर लेकर एक दूसरे को पछाड़ते दिखे तो कुछ लोग छत पर ईंट लेकर चढ़े-उतरने में एक दूसरे को पछाड़ते दिखे।


यूपी नान ओलिंपिक एसोसिएशन ने ग्रामीण खेलों का आयोजन किया, जिसमें प्रचलित खेलों से हटकर गांव में रोजाना होने वाले कामकाज को ही प्रतिस्पर्धा में शामिल किया। महिलाओं के बीच भैंस दुहने की प्रतियोगिता हुई। इसी तरह पुरुषों को पचास किलो गेहूं की बोरी लादकर दौड़ना था। वहीं, बच्चों को गांव में प्रचलित साइकिल टायर और रिम दौड़ में शामिल होने का मौका दिया गया। इसके अलावा गुल्ली डंडा सहित कई दूसरे खेलों को भी शामिल किया गया। विजेताओं को पुरस्कार स्वरूप देशी घी, मुरब्बा अचार, टिफिन और शहद जैसी चीजें दी गईं। सचिव एके सक्सेना का कहना था कि आयोजन का मकसद ग्रामीणों को खेलों और व्यायाम के महत्व के प्रति जागरूक करना था।