आयकरदाता देख सकेंगे सालभर का लेखा-जोखा

नई दिल्ली: इनकम टैक्स रिटर्न (आइटीआर) से जुड़े इनकम टैक्स पोर्टल पर आयकरदाता अब सालभर के अपने लेखा-जोखा या वार्षिक सूचना विवरण (एआइएस) को देख सकेंगे। टैक्स भरने जा रहे हैं तो अपना एआइएस जरूर देख लें। यह सेवा सोमवार से शुरू की गई है। अगर आयकरदाता को लगता है कि विवरण में कोई कमी है या यह किसी और का विवरण है या फिर इसमें बदलाव की जरूरत है तो वह आनलाइन और आफलाइन दोनों तरीके से फीडबैक दे सकता है।


एआइएस में आयकरदाता को बैंकों से मिलने वाले ब्याज, म्युचुअल फंड और शेयर बाजार में किए गए निवेश, उससे होने वाली कमाई व अन्य किसी जगह से मिलने वाले लाभांश की जानकारी होगी। आयकरदाता एआइएस को डाउनलोड भी कर सकता है। आयकर विभाग ने इनकम टैक्स रिटर्न भरने से पहले एआइएस को देखने की सलाह दी है, ताकि आइटीआर भरने में सहूलियत हो।

विभाग की ओर से यह भी कहा गया है कि एआइएस में वही विवरण दिखेगा, जो आयकर विभाग के पास होगा।

इसके अलावा आयकरदाता ने कोई ट्रांजेक्शन किया है, जो उस विवरण में नहीं दिख रहा है तो उसकी जानकारी आयकरदाता फीडबैक के जरिये दे सकता है। इनकम टैक्स ई-फाइलिंग पोर्टल के सर्विस सेक्शन में जाकर एआइएस को देखा जा सकता है। आयकर विभाग के मुताबिक आयकरदाता के फीडबैक के बाद पोर्टल पर उसका एक और एआइएस दिखेगा। अगर आयकरदाता ने अपने एआइएस में बदलाव की गुजारिश की और किसी कारणवश बदलाव नहीं हो सका तो विभाग से संपर्क कर सकता है।

आयकर विभाग के मुताबिक एआइएस सेवा के पूर्ण रूप से संचालन में आने तक ट्रेस पोर्टल पर फार्म 26एएस का दिखना जारी रहेगा। फार्म 26एएस में भी आयकरदाता की कमाई और महत्वपूर्ण खर्च का विवरण होता है।