डीबीटी मतलब दिवाली बिना तनख्वाह, वाट्सएप ग्रुप पर वेतन को लेकर चर्चा

त्योहार के दौरान सभी को समय से वेतन की आस होती है। गुरुजी को भी उम्मीद थी कि इस बार वेतन समय से खाते में आ जाएगा, जिससे ये परिवार के साथ दशहरा मना सकेंगे।


लंबे समय बाद इस बार ऐसा हुआ कि दशहरा का त्योहार बीत गया, लेकिन वेतन नहीं मिला। हमेशा की तरह इंटरनेट मीडिया पर सक्रिय कई गुरुजी वेतन के लिए वाट्सएप ग्रुप पर वेतन को लेकर चर्चा में शामिल हो गए। सभी वेतन को लेकर अपनी-अपनी राय रखने लगे। अक्टूबर की पहली तारीख से शुरूहुआ चर्चा का यह सिलसिला लगातार चलता रहा। पहला हपता गुजर गया वेतन नहीं मिला। देखते-देखते टूसर हफ्ता भी ब्रीत गया। इतना ही नहीं महत्वपूर्ण त्योहार भी बीत गया। तभी किसी ने ग्रुप पर डाला कि वेतन के लिए ग्रांट जारी हो गया। तभी एक गुरुजी ने ग्रुप में डीबीटी का मतलब समझाया कि इस बार डीबीटी मतलब दीवाली बिना तनख्याह।