शिक्षकों ने बीएसए से की चार प्रमुख समस्याओं के निदान की मांग

 हाथरस।

उत्तर प्रदेश जूनियर हाईस्कूल शिक्षक संघ के पदाधिकारियों ने बीएसए को चार सूत्री ज्ञापन सौंपा। जिसके माध्यम से शिक्षकों की समस्या का निदान कराए जाने की मांग की बीएसए से की गई। यहां पर पुरानी कार्यकारिणी के भंग होने और नई कार्यकारिणी के गठन की जानकारी भी बीएसए को दी।
सोमवार को उत्तर प्रदेश जूनियर हाईस्कूल शिक्षक संघ के बैनर तले बीएसए दफ्तर पहुंचे शिक्षकों ने ज्ञापन के माध्यम से मांग की कि परिषदीय विद्यालयों में कार्यरत शिक्षकों का वर्ष अनुसम्यक मानव संपदा पोर्टल पर दर्ज कराया जाय। जिले में कार्यरत अधिकांश शिक्षकों के वेतन वाले खाते राष्ट्रीकृत बैंक में खोलने की अनुमति दी जाय, जिससे शिक्षकों को वेतन पर मिलने वाले लाभ प्राप्त हो सकें।


विधानसभा सामान्य निर्वाचन 2022 के लिए मतदाता सूची के वृहद पुनरीक्षण कार्यक्रम में अधिकांश शिक्षकों को अवकाश के दिन कार्य करने के बदले प्रतिकर अवकाश दिया जाए। शिक्षकों के वेतन से प्रतिमाह सामूहिक बीमा की 87 रुपये की कटौती बंद की जाय, क्योंकि भारतीय जीवन बीमा निगम ने सामूहिक बीमा देने से इंकार कर दिया है। अब तक सामूहिक बीमा की काटी गई धनराशि का भुगतान किया कराए जाने की मांग की गई।
बीएसए को यह भी बताया गया कि उत्तर प्रदेशीय जूनियर हाईस्कूल (पू.मा.) शिक्षक संघ उत्तर प्रदेश के प्रांतीय अध्यक्ष महामंत्री ने जनपद-हाथरस की पूर्व में कार्यरत कार्यकारिणी को निष्क्रिय रहने, शिक्षक हित में कार्य न करने और समय से चुनाव न कराने के कारण तत्काल प्रभाव से भंग कर विधि शून्य घोषित कर दिया है।
संघीय दायित्वों के निर्वहन /शिक्षक हित में कार्य के लिए (संवैधानिक रूप से इकाई के गठन तक) संयोजक जिला अध्यक्ष रमेश चौधरी (संविलियन विद्यालय कटैलिया,हाथरस), सहसंयोजक महामंत्री भूपेंद्र कुमार सेंगर, सहसंयोजक कोषाध्यक्ष आदित्य प्रताप सिंह को नियुक्त कर समिति के निर्णयों को विधिमान्य किया है।
इस मौके पर मृदुल कुमार शर्मा, विमलेश कुमारी, कुलदीप सिंह, वीरेंद्र कुमार कुशवाह, संजय सारस्वत, प्रीतम चौहान, सीपी गुप्ता, सुधीर वर्मा, गीता शर्मा, रविकांत, राजीव शर्मा, नरेन्द्र कुमार, विवेश कुमार, संजीव सेंगर आदि मौजूद थे।