परिषदीय स्कूलों में अब बच्चों को पढ़ाने के तौर तरीके में देखने को मिलेगा बदलाव


वाराणसी। परिषदीय स्कूलों में अब बच्चों को पढ़ाने के तौर तरीके में बदलाव देखने को मिलेगा। कक्षा एक से तीन तक के बच्चों को भाषाई कौशल और गणितीय दक्षता सरलता और रुचिकर गतिविधियों के माध्यम से हासिल कर कक्षा शिक्षण में जोर दिया जाएगा। इसके लिए स्कूलों और शिक्षकों को नई शिक्षण सामग्री भी मुहैया कराई जाएगी। क्लासरूम टीचिंग को सरल, रुचिकर और गतिविधि आधारित बनाने के लिए शिक्षकों के लिए शिक्षण संग्रह ध्यानाकर्षण और आधारशिला नामक तीन हस्त पुस्तिकाएं दी जा रही हैं। 
 
इसका मुख्य उद्देश्य शिक्षण प्रणाली को बेहतर बनाना है। महानिदेशक स्कूली शिक्षा की ओर से निर्देश दिया गया है कि शिक्षण संग्रह में जरूरी तकनीक की गतिविधियों का इस्तेमाल कर बच्चों को रुचिकर पूर्ण शिक्षा दी जाए। प्रत्येक स्कूल में गणित किट, करेंसी नोट के जरिए मुद्रा की जानकारी तथा लकड़ी के बने ठोस आकारों के जरिए वृत्त, वर्ग और आयात का मतलब समझाया जा सकेगा

👇UPTET/CTET/SUPER TET, शिक्षक भर्तियों व अन्य भर्तियों हेतु नोट्स 👇