विशेष नोट व स्पष्टीकरण:-👉 Updatemarts.com नाम से मिलती-जुलती वेबसाइट से सावधान रहें, ये सभी नकली हैं, 🙏वेबसाइट प्रयोग करते समय Updatemarts के आगे डॉट .com अवश्य चेक कर लें, धन्यवाद

बीएसए और बीईओ का भी अब होगा मूल्यांकन, 50 फीसदी अंक वाले पास,इस तरह होगा मूल्यांकन

गोरखपुर:- 

परिषदीय स्कूलों में पढ़ने वाले बच्चों के शैक्षिक स्तर का मूल्यांकन करने को परीक्षा ली जाती है। विद्यार्थी पास होने के बाद अगली कक्षा में प्रवेश लेते हैं। अब शिक्षाधिकारियों का भी मूल्यांकन होगा। कायाकल्प के साथ ही अन्य योजनाओं के क्रियान्वयन पर अंक मिलेगा। 50 फीसद से कम अंक पाने वाले अफसर फेल माने जाएंगे।


बेसिक शिक्षा विभाग परिषदीय स्कूलों में अध्ययनरत छात्रों के शैक्षिक उन्नयन के लिए कई तरह के कार्यक्रम चला रहा है। विद्यालयों का भौतिक परिवेश बदलने के लिए कायाकल्प योजना संचालित है। इन कार्यो को पूरा कराने के लिए शिक्षकों के साथ ही अधिकारी भी बराबर के भागीदार होंगे। बीएसए व खंड शिक्षा अधिकारी का कार्य के आधार पर मूल्यांकन होगा।

बीएसए का 18 और बीईओ का 16 बिंदुओं पर मूल्यांकन किया जाएगा। सभी कार्यों के लिए अलग-अलग अंक निर्धारित है। आपरेशन कायाकल्प का कार्य पूरा कराने पर 20 अंक दिए जाएंगे। इसी तरह से गुणवत्तापरक फर्नीचर उपलब्ध कराने पर पांच अंक निर्धारित किया गया है। शिक्षकों को आनलाइन अवकाश स्वीकृति, निरीक्षण का लक्ष्य पूर्ति, दिव्यांग बच्चों के चिन्हींकरण व कस्तूरबा विद्यालयों के रिक्त पद भरने पर पांच-पांच अंक प्रदान किया जाएगा। माना जा रहा है कि शिक्षाधिकारियों के ट्रांसफर व प्रमोशन में अंकों को आधार बनाया जाएगा।


इस तरह होगा मूल्यांकन
शिक्षाधिकारियों को 80 फीसद से अधिक अंक मिलने पर उत्कृष्ट श्रेणी में रखा जाएगा। 71 से 80 पर अतिउत्तम, 61 से 70 पर उत्तम, 50 से 60 पर संतोषजनक व 50 फीसद से कम अंक मिलने पर अनुत्तीर्ण या खराब माना जाएगा।

जिला बेसिक शिक्षा अधिकारी आरके सिंह ने कहा कि बेसिक शिक्षा विभाग द्वारा संचालित योजनाओं के कार्यो में तेजी लाने के लिए शासन स्तर से व्यवस्था बनाई गई है। इसी आधार पर गोपनीय आख्या तैयार कर शासन को भेजी जाएगी। आगे जैसा निर्देश होगा उसे लागू कराया जाएगा