14 June 2020

आखिर सरकार के मॉडिफिकेशन में है क्या❓ आइए समझें..... ✍🏼 टीम रिज़वान अंसारी


*आखिर सरकार के मॉडिफिकेशन में है क्या❓*

आइए समझें..... ✍🏼 *टीम रिज़वान अंसारी*

✔Modification का अर्थ- किसी विषय-वस्तु में संसोधन या सुधार या परिवर्तन होना।

सरकार की तरफ से 69000 शिक्षक भर्ती में 21 मई और 09 जून के S.C. के अंतरिम आदेश पर मॉडिफिकेशन तैयार है। इस मॉडिफिकेशन में सरकार ने निम्न बिंदुओं को प्रमुखता से मेंशन किया है.....
*➡️१- वर्तमान में प्रदेश में कार्यरत कुल शिक्षामित्रों की संख्या= 1,52,330*

*२- ऐसे शिक्षामित्रों की संख्या जो ATRE-2019 में प्रतिभाग किये= 45,357*

*३- ऐसे शिक्षामित्रों की संख्या जो 45% एवं 40% के दायरे में उत्तीर्ण हैं= 32,629*

*४- ऐसे शिक्षामित्रों की संख्या जो 65% एवं 60% के दायरे में उत्तीर्ण हैं = 8018*

➡️सरकार का कहना है कि इस पूरी भर्ती को 69000 पदों पर करने की अनुमति दी जाए। सरकार के पास वर्तमान में इस 69000 भर्ती पदों के अतिरिक्त 51,112 पद अभी भी रिक्त हैं। यदि मा०कोर्ट 45 और 40% के दायरे में 32,629 शिक्षामित्रों को रिलीफ देती है तो उनको इन 51,112 रिक्त पदों में एडजस्ट किया जाएगा। बस ये पूरी 69000 भर्ती हो जाने दी जाए।

➡️सरकार का कहना है कि इस 69000 भर्ती पदों में 37,339 पदों को शिक्षामित्रों के लिए रिज़र्व रखना उचित नही है। ऐसा करने पर पूरी 69000 भर्ती के आरक्षण नियम/मेरिट/ पदस्थापना में समस्याएं आएंगी जिससे पूरी भर्ती प्रक्रिया खतरे में पड़ सकती है।

➡️सरकार ने कहा है कि 16.01.2020 को मा०सुप्रीम कोर्ट ने BHOLA PRASAD SHUKLA वाले जजमेंट में सरकार को निर्देशित किया है कि शिक्षकों की भर्ती प्रक्रिया 6 महीने में पूर्ण की जाए। सरकार इन्हीं आदेशो के अनुपालन में ये 69000 भर्ती जल्द से जल्द पूरी करना चाहती है।

*➡️प्रेयर:-*
 (A)21 मई और 09 जून के आदेश को संसोधित किया जाए कि कोई भी शिक्षामित्र स०अ० के पद पर कार्यरत नही है।

(B) ATRE-2019 के आधार पर राज्य सरकार को पूरी 69000 भर्ती को करने दिया जाए।

(C) स्थिति/ परिस्थिति को ध्यान में रखते हुए मा० कोर्ट आदेश पारित करे।

*_सरकार ने मॉडिफिकेशन अपील सिर्फ टीम रिज़वान की सूबेदार सिंह की अपील पर दाखिल किया है। अन्य किसी पर कोई मॉडिफिकेशन दाखिल नही किया। क्योंकि सरकार को पता है की यही एक मात्र दमदार SLP है जिसमें 45% और 40% वालों की जीत हो सकती है। यही एकमात्र एकलौती अपील है जिस पर वो समस्त तथ्य संग्रहित है जो जीत के मार्ग को प्रशस्त करते हैं।इसी अपील पर ही सर्विस मामलों में भारत के सर्वश्रेष्ठ वरिष्ठतम एडवोकेट श्री गोपाल सुब्रमण्यम जी दो बार बहस कर चुके हैं।_*

सरकार के इस मॉडिफिकेशन के सापेक्ष पॉइंट टू पॉइंट टीम का जवाब तैयार है। जैसे ही मॉडिफिकेशन का रजिस्ट्रेशन नम्बर प्राप्त होता है वैसे ही सूबेदार सिंह की अपील के सापेक्ष हमारा जवाब (Reply) दाखिल कर दिया जाएगा। टीम प्रत्येक स्तर और प्रत्येक बिंदु पर अंततः 45 और 40 प्रतिशत की जीत की आशा के साथ अपने कार्य के प्रति तन्मयता से तटस्थ है।क्योंकि ये सार्वभौमिक सत्य है कि...
*★लड़ने वाले ही जीतते हैं।।*

📝आगामी सप्ताह महत्वपूर्ण है।


*®टीम रिज़वान अंसारी।।*

Guruji Portal: 👇प्रतियोगी परीक्षाओं हेतु नोट्स👇