97 हजार शिक्षक भर्ती से जुड़े प्रशिक्षितों ने विधानभवन घेराव का प्रयास किया, मंत्री से मुलाकात के आश्वासन पर खत्म किया प्रदर्शन

लखनऊ : बेसिक शिक्षा विभाग में लंबे समय से भर्ती का इंतजार कर रहे प्रशिक्षितों (97 हजार शिक्षक भर्ती से जुड़े) ने विधानभवन घेराव का प्रयास किया। अलग-अलग जिलों से आए प्रशिक्षितों ने शहर के अलग-अलग मार्गो से प्रवेश किया। बड़ी संख्या में प्रशिक्षित विधानभवन की ओर प्रवेश कर ही रहे थे कि पुलिस ने उन्हें लारेटो चौराहे पर रोक लिया।


आक्रोशित प्रशिक्षित युवा अपनी मांगों को लेकर चौराहे पर ही बैठ गए और प्रदर्शन शुरू कर दिया। डीएलएड प्रशिक्षितों का नेतृत्व कर रहे अभिषक तिवारी और भानु प्रताप शुक्ल का कहना है कि सरकार ने सुप्रीमकोर्ट में हलफनामा देकर स्वीकार किया कि बेसिक में 51,112 पद रिक्त हैं तथा 68,500 शिक्षक भर्ती में करीब 17,000 पद रिक्त पद हैं। इन सभी पदों को जोड़ लिया जाए तो करीब 90 हजार से एक लाख पद खाली हैं। प्रदर्शन पर डटे अभ्यर्थियों को मनाने में पुलिस को छह घंटे लग गए। शाम करीब चार बजे बेसिक शिक्षा मंत्री सतीश द्विवेदी से मुलाकात कराए जाने के आश्वासन पर प्रशिक्षितों ने प्रदर्शन समाप्त किया और ईको गार्डन चले गए। प्रशिक्षितों का कहना था कि शासन-प्रशासन की ओर से शाम को पुलिस टीम पांच प्रशिक्षितों को लेकर मंत्री से उनके विधानसभा क्षेत्र इटवा में मुलाकात के लिए रवाना हुई। उम्मीद है कि वार्ता सफल होगी।

लारेटो चौराहे पर भर्ती की मांग को लेकर प्रदर्शन कर रहे 97 हजार शिक्षक भर्ती के अभ्यर्थियों को हटाती पुलिस ’ रंगनाथ तिवारी

मची भगदड़, पुलिस ने संभाली स्थिति

एक ओर जहां बड़ी संख्या में प्रशिक्षित शांतिपूर्ण ढंग से प्रदर्शन कर रहे थे, वहीं प्रशिक्षितों की एक बड़ी संख्या भी दूसरे छोर से आ गई। इस दौरान वीआइपी चौराहे के आसपास भगदड़ की स्थिति उपज गई। मगर पुलिस की सूझबूझ से माहौल शांतिपूर्वक बना रहा।

👇UPTET/CTET/SUPER TET, शिक्षक भर्तियों व अन्य भर्तियों हेतु नोट्स 👇