औचक निरीक्षण में खुली शिक्षा व्यवस्था की पोल: पहला प्रधानमंत्री कौन? विद्यालय के बच्चों ने कहा नरेंद्र दामोदार दास मोदी



सोनभद्र जिले के खंड शिक्षा अधिकारी म्योरपुर विश्वजीत सरोज ने न्याय पंचायत जरहां के विभिन्न विद्यालयों का शुक्रवार को औचक निरीक्षण किया। कंपोजिट विद्यालय बीजपुर के कक्षा एक से आठ तक के बच्चों से बीईओ ने पूछा कि भारत के प्रथम प्रधानमंत्री का क्या नाम है तो बच्चों ने नरेंद्र दामोदर दास मोदी बताया। गलत जवाब सुन भड़के बीईओ ने अध्यापकों को बुला कर जमकर फटकार लगाई।

कहा कि जब बच्चों को पढ़ना-लिखना नहीं आता तो विद्यालय आने का क्या फायदा। विद्यालय में 12 अध्यापक हैं, सब बेकार हैं। क्यों न सब अध्यापकों का वेतन रोक दिया जाए। बीईओ ने निरीक्षण में शिक्षकों की उपस्थिति, विद्यालयों की व्यवस्था, पठन-पाठन की गुणवत्ता सहित अन्य बिंदुओं की जांच की।

निरीक्षण के दौरान दो शिक्षिका गायब मिली। उनके खिलाफ विभागीय कार्रवाई की बात कही। कंपोजिट विद्यालय नेमना व बीजपुर का औचक निरीक्षण किया। विद्यालय प्रांगण में रखे करीब 35 क्विंटल खाद्यान्न को बच्चों में वितरण करने के लिए निर्देशित किया। बीईओ ने ग्रांट के पैसे की जांच कराने की बात कही।रसोइया ममता, सीता, फूलमती, कांति से मिड डे मील की जानकारी लेकर उनका हौसला बढ़ाया। बीईओ विश्वजीत ने बताया कि प्राथमिक विद्यालय जरहा में शिक्षिका शालू रानी अनुपस्थित पाई गई। वहीं उच्च प्राथमिक विद्यालय जरहा में शिक्षिका आरती अनुपस्थित मिली। दोनों के खिलाफ विभागीय कार्रवाई की जाएगी।

.

primary ka master, primary ka master current news, primarykamaster, basic siksha news, basic shiksha news, upbasiceduparishad, uptet

UPTET/CTET/SUPER TET, शिक्षक भर्तियों व अन्य भर्तियों हेतु NOTES 👇