उत्तराखंड :- कैबिनेट के फैसले से से भड़के शिक्षा मित्र:- आत्मदाह की चेतावनी देकर सीएम आवास पहुंचे शिक्षा मित्र, महज 5000 मानदेय बढ़ोतरी पर नाराजगी


सरकार ने शिक्षा मित्रों का मानदेय 15 हजार रुपये से अब 20 हजार रुपये कर दिया है। इससे राज्यभर के शिक्षा मित्र बिफर गए हैं। शिक्षा मित्रों ने गुरुवार को सीएम आवास कूच का ऐलान करते हुए आत्मदाह की चेतावनी दी है।


कैबिनेट बैठक में बुधवार को शिक्षा मित्रों के मानदेय पांच हजार रुपये बढ़ाने की मंजूरी दी है। इस प्रदेश भर के शिक्षा मित्रों में आक्रोश फैल गया। दरअसर, शिक्षा मित्र लंबे समय से नियमितीकरण की मांग कर रहे थे। इनके नियमितीकरण में अड़चन आने पर सरकार ने नया फार्मूला निकाला और शिक्षा मित्रों का मानदेय 15 हजार से 20 हजार रुपये कर दिया।

देर रात बीएलडी प्रशिक्षित शिक्षा मित्र संगठन के प्रदेश अध्यक्ष गिरीश चंद्र भट्ट ने कहा कि राज्य सरकार ने शिक्षों मित्रों के साथ छलावा किया है।

कहा कि शिक्षा मित्र उत्तराखंड में 15 20 साल से काम कर रहे हैं। इसके बावजूद अभी तक 15 हजार रुपये ही मानदेय मिल रहा है। अब सरकार ने 20 हजार रुपये मानदेय किया है। यह शिक्षा मित्रों के साथ छलावा है। भट्ट ने कहा कि शिक्षा मित्र नियमितीकरण की मांग को लेकर आंदोलित हैं। जब तक सरकार शिक्षा मित्रों का नियमितीकरण या फिर समान कार्य के बदले समान वेतन नहीं देती तो आंदोलन जारी रहेगा।

मानदेय में सिर्फ पांच हजार की वृद्धि से आक्रोशित पांच डीएलएड प्रशिक्षित शिक्षा मित्र गुरुवार सुबह अचानक सीएम आवास पहुंच गए। उन्होनें बुधवार को ही सीएम आवास में जाकर आत्मदाह की धमकी दी थी। जिस कारण उनके वहां पहुंचने से पुलिस और खुफिया विभाग अलर्ट हो गया और उन्हें वहीं पकड़ लिया। जिससे गुस्साए शिक्षा मित्रों ने सीएम आवास के बाहर ही जमकर हंगामा किया। पुलिसकर्मियों के साथ हाथापायी तक की। बाद में पुलिस उन्हें हिरासत में लेकर कोतवाली ले गई। देर शाम तक उनके खिलाफ मुकमदे की तैयारी थी।


👇UPTET/CTET/SUPER TET, शिक्षक भर्तियों व अन्य भर्तियों हेतु नोट्स 👇