श्रम पोर्टल पर पंजीकृत होंगी बेसिक स्कूलों में कार्यरत रसोइया

गौरीगंज (अमेठी)। असंगठित क्षेत्र के कर्मकारों को सामाजिक व आर्थिक सुरक्षा प्रदान करने के लिए शासन ने श्रम पोर्टल पर पंजीकरण की व्यवस्था बनाई है। योजना में परिषदीय स्कूलों में कार्यरत रसोइयों को भी शामिल किया गया है। योजना से रसोइयों को लाभान्वित किया जा सके, इसके लिए बीएसए ने सभी बीईओ को पोर्टल पर उनका पंजीकरण कराने का निर्देश दिया है। बीएसए ने रसोइयों का पंजीकरण कराते हुए रिपोर्ट देने का निर्देश देते हुए लापरवाही पर कार्रवाई की चेतावनी दी है।


जिले के 139 प्राथमिक, 234 उच्च प्राथमिक व 197 कंपोजिट स्कूल समेत 33 राजकीय, 25 सहायता प्राप्त स्कूल में मध्यान्ह भोजन योजना के तहत 4412 रसोइया कार्यरत हैं। कार्यरत रसोइया को सामाजिक व आर्थिक सुरक्षा प्रदान करने के लिए बीती 28 अगस्त को शासन ने संगठित क्षेत्र के कर्मकारों में शामिल करते हुए संचालित योजना से लाभान्वित करने की योजना बनाई है।

योजना से रसोइयों को लाभान्वित किया जा सके इसके लिए श्रम विभाग के ई-श्रम पोर्टल पर पंजीकृत कराना आवश्यक है। रसोइयों को योजना से लाभान्वित किया जा सके, इसके लिए बीएसए डॉ. अरविंद कुमार पाठक ने सभी बीईओ को पत्र जारी किया है। पत्र में परिषदीय स्कूलों में कार्यरत रसोइयों से समन्वय स्थापित कर उनका आधार कार्ड, मोबाइल नंबर, बैंक पास बुक, राशन कार्ड व फोटो प्राप्त कर उनकी मौजूदगी में जनसेवा केंद्र से श्रम विभाग के ई-श्रम पोर्टल पर पंजीकृत कराते हुए रिपोर्ट देने को कहा है।
पंजीकरण के बाद रसोइया की मौत होने की दशा में आश्रित को प्रधानमंत्री दुर्घटना बीमा योजना से दो लाख की आर्थिक सहायता तो स्वयं के साथ परिवार के सभी आश्रित को पांच लाख रुपये की चिकित्सीय सुविधा मुख्यमंत्री जनआरोग्य योजना से मिलेगी। बीएसए ने रसोइयों से पोर्टल पर पंजीकरण कराने की बात कहते हुए बीईओ को रसोइयों का पंजीकरण नहीं होने पर कार्रवाई की चेतावनी दी है।

👇UPTET/CTET/SUPER TET, शिक्षक भर्तियों व अन्य भर्तियों हेतु नोट्स 👇