विशेषज्ञों की निगरानी में होनहार बनेंगे बेसिक के बच्चे


बेसिक शिक्षा परिषद के डेढ़ लाख से अधिक प्राथमिक और उच्च प्राथमिक स्कूलों में पढ़ने वाले तकरीबन दो करोड़ बच्चों को होनहार बनाने के लिए बड़े संस्थानों के विशेषज्ञों की सहायता ली जाएगी। परिषदीय स्कूलों में अध्यापनरत 5.5 लाख से अधिक शिक्षकों के प्रशिक्षण का जिम्मा उठा रहे राज्य शैक्षिक प्रबन्धन एवं प्रशिक्षण संस्थान (सीमैट) प्रशिक्षण को और प्रभावी बनाने के लिए भारतीय सूचना प्रौद्योगिकी संस्थान (ट्रिपल आईटी), मोतीलाल नेहरू राष्ट्रीय प्रौद्योगिकी संस्थान और गोविन्द बल्लभ पंत सामाजिक विज्ञान संस्थान से समझौता करने जा रहा है।

वर्तमान में सीमैट के विशेषज्ञ और कुछ चुनिंदा शिक्षकों से प्रशिक्षण दिलाया जाता है। लेकिन बेसिक शिक्षा विभाग का मानना है कि शिक्षकों को जो प्रशिक्षण मिल रहा है वह पूरी तरह से ग्रासरूट लेवल तक नहीं पहुंच पा रहा। यानि प्रशिक्षण का परा लाभ बच्चों को नहीं मिल पा रहा। इसलिए बड़े संस्थानों के विशेषज्ञों को प्रशिक्षण देने के लिए आमंत्रित करेंगे ताकि उनके अनुभव का लाभ मिल सके।

इस संबंध में इन संस्थानों के विशेषज्ञों से दो चक्र की बैठक हो चुकी है और जल्द ही समझौते पत्र पर हस्ताक्षर होंगे।

UPTET/CTET/SUPER TET, शिक्षक भर्तियों व अन्य भर्तियों हेतु NOTES 👇