पांच साल बाद शिक्षक भर्ती की तैयारी: अब परीक्षा से होगी नियुक्ति, एजेंसी चयन की प्रक्रिया शुरू


प्रदेश सरकार से सहायता प्राप्त (एडेड) अल्पसंख्यक विद्यालयों में पांच साल बाद शिक्षक भर्ती की तैयारी शुरू हो गई है। शिक्षा निदेशालय से भेजे गए प्रस्ताव के आधार पर प्रदेशभर के 319 अल्पसंख्यक कॉलेजों में शिक्षकों की भर्ती के लिए शासन स्तर पर एजेंसी चयन की प्रक्रिया चल रही है। एजेंसी चयन के साथ ही मुस्लिम, इसाई, जैन, बंगाली आदि समाज के कॉलेजों में नियुक्ति प्रक्रिया शुरू होगी ।

शिक्षकों के चयन के लिए एजेंसी ही लिखित परीक्षा कराएगी जिसके आधार पर मेरिट में शीर्ष पांच अभ्यर्थियों का पैनल बनाया जाएगा। चयनित अभ्यर्थियों में से ही अल्पसंख्यक संस्थाओं को नियुक्ति देनी होगी, हालांकि प्रबंधतंत्र इस व्यवस्था से सहमत नहीं हैं।

2017 में भाजपा सरकार बनने के बाद 2018 में अल्पसंख्यक कॉलेजों में शिक्षकों की भर्ती पर रोक लगा दी गई थी। पहले इन कॉलेजों के प्रबंधक माध्यमिक शिक्षा विभाग के अफसरों से अनुमति लेकर अपने स्तर से सीधे शिक्षकों की नियुक्ति कर लेते थे। भर्ती में बड़े पैमाने पर रुपयों के लेन-देन की शिकायत भी होती रहती थी.

जिले के अल्पसंख्यक कॉलेजों में 42 पद खाली

प्रयागराज । जिले के अल्पसंख्यक बालक विद्यालयों में सीधी भर्ती के अंतर्गत सहायक अध्यापकों के स्वीकृत 147 पदों में से 42 रिक्त हैं। इसी प्रकार प्रवक्ता के 47 में से 33 पद खाली हैं। अल्पसंख्यक संस्था होने के कारण माध्यमिक शिक्षा सेवा चयन बोर्ड को अधियाचन नहीं भेजा जाता।

UPTET/CTET/SUPER TET, शिक्षक भर्तियों व अन्य भर्तियों हेतु NOTES 👇