मौसम विभाग ने यूपी के 23 जिलों में गरज-चमक के साथ बारिश का अलर्ट्स किया जारी


लखनऊ. उत्तर प्रदेश की राजधानी लखनऊ (Lucknow) समेत कई जिलों में पिछले कुछ समय से हो रही भारी बारिश (Rainfall) ने जनजीवन प्रभावित कर दिया ​है. उत्तर प्रदेश के कई जिलों में लगातार रुक-रुककर हो रही बारिश के कारण ठंड का असर बढ़ने लगा है.मौसम वैज्ञानिकों के मुताबिक सोमवार को दिनभर हल्की बारिश के साथ आसमान में बादल छाए रहेंगे. मौसम विभाग ने प्रदेश के 23 जिलों में गरज-चमक के साथ बारिश का अलर्ट्स जारी किया है. 30 किलोमीटर प्रतिघंटे की रफ्तार से हवा चलने का भी अनुमान है. वेस्ट यूपी के कई शहरों में आसमान में बादलों का डेरा है. बिजली गिरने का भी अलर्ट है. मौसम विभाग की सलाह है कि मौसम पर नजर रखते हुए लाेग सुरक्षित स्थानों में रहें. मौसम वैज्ञानिकों के मुताबिक आज मौसम साफ़ होने के आसार है.


इससे पहले रविवार को ललितपुर व आसपास ओले भी गिरे हैं. बेमौसम बारिश व ओले गिरने से यहां फसलें चौपट हो गई है. कानपुर-लखनऊ में तीन दिनों से रिमझिम बारिश का दौर जारी है. कानपुर, लखनऊ, मेरठ व आसपास के जिलों और एनसीआर में बारिश हुई. इससे ठंड और भी बढ़ गई है. अभी 48 घंटे और बारिश के आसार बने हुए हैं. मेरठ, गौतमबुद्धनगर, गाजियाबाद, बागपत, बुलंदशहर, हापुड़, सहारनपुर के अलावा शामली, मुजफ्फरनगर, बिजनौर, अमरोहा, मुरादाबाद, बरेली, शाहजहांपुर जिलों में बारिश की संभावना है. आगरा और अलीगढ़ मंडल के जिलों के अलावा मध्य यूपी में भी बारिश रहेगी. झांसी में लखनऊ व पूर्वी उत्तर प्रदेश के जिलों में भी बारिश का मौसम है.

दरअसल लगातार हो रही बारिश के चलते जनजीवन अस्त व्यस्त हो गया है. कई कारोबार ठप पड़े हैं. कंस्ट्रक्शन का काम ठप हो गया है. दिहाड़ी मजदूर चार दिन से घर में बैठे हैं. फसल को काफी नुकसान हुआ है. बारिश से सर्दी भी बढ़ गई है. माघ मेला का भी काम चार दिन से प्रभावित है. इसका सबसे बड़ा असर खेती पर पड़ रहा है. यह बारिश गेहूं के लिए जहां फायदेमंद है वही तिलहन और दलहन फसलों के लिए नुकसानदेह है. कौशांबी में भी बारिश हो रही है. इससे सरसों, टमाटर व मिर्च की फसल को क्षति पहुंची हैं


👇UPTET/CTET/SUPER TET, शिक्षक भर्तियों व अन्य भर्तियों हेतु नोट्स 👇