15 मिनट में तो धुलते हैं बर्तन, बच्चे कैसे करेंगे भोजन

अलीगढ़। बेसिक शिक्षा विभाग के विद्यालयों में दोपहर का भोजन के लिए 15 मिनट निर्धारित कर दिया गया है, जबकि 15 मिनट में बच्चे लाइन में लगकर बर्तन धुलते हैं।


ग्रीष्मावकाश प्रारंभ होने तक विद्यालय प्रातः 7:30 बजे से दोपहर 1:30 बजे संचालित किया जाएगा। पठन-पाठन के लिए समस्त छात्र-छात्राएं प्रातः 7:30 बजे से 12:30 बजे तक विद्यालय में उपस्थित रहेंगे, जिसमें प्रातः 7:30 बजे से 7:40 बजे तक व मध्यावकाश प्रातः 10 बजे से प्रातः 10:15 बजे तक रहेगा मध्यावकाश के लिए 15 मिनट निर्धारित किया गया है बच्चों को एमडीएम दिया जाता है बच्चे हाथ पैर धोने के साथ कतार लगाने में 15 मिनट लगा देते हैं। ऐसे में बच्चे 15 मिनट के अंदर कैसे भोजन कर सकते हैं। रसोइयों

का कहना है कि 15 मिनट बच्चों के लिए कम है। बेसिक शिक्षा परिषद प्रयागराज के सचिव प्रताप सिंह बघेल ने बीएसए को भेजे आदेश में कहा है कि शिक्षक, शिक्षामित्र अनुदेशक विद्यालय में प्रशासनिक कार्यों का दायित्व का निर्वहन करना होगा। बेएसए सतेंद्र कुमार ने बताया कि आदेश का पालन किया जाएगा।

उधर, एमडीएम बांटने में घालमेल के अंदेशा से इन्कार नहीं किया जा सकता है, क्योंकि जो अच्चा 15 मिनट में एमडीएम से लेगा, जबकि देर से आने वाले बच्चे को एमडीएम मिलने की संभावना कम है।

UPTET/CTET/SUPER TET, शिक्षक भर्तियों व अन्य भर्तियों हेतु NOTES 👇