उच्चस्तरीय जांच के बाद ही हो शिक्षकों पर कार्रवाई

महोबा। शिक्षकों की शिकायतें आने पर पहले जांच की जाए, सत्यता पाए जाने पर ही कार्रवाई होनी चाहिए। शिक्षक संघ ने जिलाधिकारी को ज्ञापन भेज ऐसे मामलों को गंभीरता से लेने की बात कही।


शिक्षक संघ के जिलाध्यक्ष नवीन गुप्ता के नेतृत्व में शिक्षकों ने डीएम मनोज कुमार को सौंपे ज्ञापन में बताया कि ग्रामीण क्षेत्रों के विद्यालयों में शिक्षकों को सही ढंग से विद्यालय संचालन के लिए ग्राम प्रधान, विद्यालय प्रबंध समिति के अध्यक्ष के साथ ही गांव के अभिभावकों से भी संपर्क रखना पड़ता है।

विकास संबंधी कार्यों के आय-व्यय, एमडीएम आदि को लेकर कई बार उक्त लोगों को संतुष्ट करना संभव नहीं होता है।
ऐसे लोग शिक्षकों की गलत शिकायत कर उन्हें मानसिक परेशान करते हैं। संगठन का कहना है कि शिकायत आने पर पहले उच्च स्तरीय जांच करा लें, इसके बाद कार्रवाई करें।
इस मौके पर दिनेश रावत, प्रदीप सक्सेेना, ओमप्रकाश, रामनरेश, प्रशांत, रमाकांत, विकास पचौरी, आशीष, रविकरन, पकंज नगायच आदि शिक्षक मौजूद रहे।
महोबा। उप्र. पूर्व माध्यमिक शिक्षक संघ के पदाधिकारियों ने शनिवार को डीएम को ज्ञापन सौंपकर विद्यालयों की छुट्टी होनेे के बाद शिक्षकों को एक घंटे बाद तक रोके जाने का आदेश वापस कराए जाने की मांग की है।
बताया कि बीएसए के आदेश पर शिक्षकों के लिए समय सुबह 7.30 बजे से दोपहर 1.30 बजे कर दिया गया है। ऐसे में शिक्षकों को एक घंटा अधिक समय तक विद्यालय में रुकना पड़ रहा है।

UPTET/CTET/SUPER TET, शिक्षक भर्तियों व अन्य भर्तियों हेतु NOTES 👇