शिक्षकों की बायोमेट्रिक हाजिरी नहीं लेकिन बच्चों के लिए कर दी अनिवार्य


 स्कूलों में अब रजिस्टर से हाजिरी लेने का खत्म होगा झंझट, 75 प्रतिशत से कम उपस्थिति पर नहीं मिलेगा वजीफा 
प्रतापगढ़ जिले के हाईस्कूल, इंटरमीडिएट और अधिकांश उच्च शिक्षण संस्थाओं में अभी शिक्षकों की बायोमेट्रिक हाजिरी नहीं हो रही है, लेकिन शासन ने छात्र-छात्राओं के लिए इसे अनिवार्य कर दिया है। दरअसल, वजीफा लेने वालों की बढ़ती संख्या को देखते हुए शासन ने यह फरमान जारी किया है। पचहत्तर प्रतिशत से कम उपस्थिति होने पर छात्र-छात्राओं की वजीफा नहीं मिलेगा। फिलहाल, इस दिशा में अधिकारियों ने कॉलेजों को पत्राचार करना प्रारंभ कर दिया है।

जिले के हाईस्कूल, इंटरमीडिएट और उच्च शिक्षण संस्थानों में प्रवेश लेने के बाद कॉलेज का मुंह नहीं देखने वाले छात्र-छात्राओं की मुश्किलें बढ़ने वाली हैं। उन्हें विद्यालय में बायोमेट्रिक हाजिरी लगानी पड़ेगी। वजीफा लेने वालों की लगातार बढ़ती संख्या को देखते हुए
शासन ने यह निर्णय लिया है। विद्यालयों में छात्र-छात्राओं की 75 प्रतिशत उपस्थिति अनिवार्य कर दी गई है अब वजीफा उन्हीं छात्र छात्राओं को मिलेगा, जिनको  उपस्थिति प्रमाणित कर विद्यालय प्रशासन को देंगे। 
शैक्षिक सत्र 2021-22 में जिले के 769 शैक्षिक संस्थानों के 72,104 विद्यार्थी छात्रवृत्ति योजना से लाभान्वित हुए हैं। इनमें एससी एसटी और सामान्य वर्ग के 32,256, अल्पसंख्यक वर्ग के 3,272 तथा अन्य पिछड़ा वर्ग के 33,927 विद्यार्थी शामिल है। हालांकि अभी जिले के हजारों छात्र-छात्राओं को वजीफा आने का इंतजार है।

UPTET/CTET/SUPER TET, शिक्षक भर्तियों व अन्य भर्तियों हेतु NOTES 👇