शिक्षामित्रों को शिक्षक की गणना में शामिल न करें

प्रयागराज। डीएलएड प्रशिक्षुओं ने बुधवार को सचिव बेसिक शिक्षा परिषद कार्यालय में ज्ञापन देकर शिक्षकों के पद की गणना में शिक्षामित्रों को शामिल नहीं करने का अनुरोध किया है। प्रशिक्षित बेरोजगारों का कहना है कि पूर्णकालिक शिक्षक के रूप में शिक्षामित्रों की गणना आरटीई 2009 तथा नई शिक्षा नीति का उल्लंघन होगा।

शिक्षक छात्र अनुपात पर ही नई शिक्षक भर्ती निर्भर करती है। नई प्राथमिक शिक्षक भर्ती की राह देख रहे लाखों बेरोजगारों के साथ यह नाइंसाफी है। ज्ञापन देने वालों में पंकज मिश्रा, राहुल यादव, अखंड प्रताप, विनय प्रताप, शैलेंद्र आदि रहे। प्राथमिक स्कूलों में पिछले तीन सालों से सहायक अध्यापकों की भर्ती नहीं आई है।

UPTET/CTET/SUPER TET, शिक्षक भर्तियों व अन्य भर्तियों हेतु NOTES 👇