शिक्षकों को अब चिकित्सीय सुविधाएं देने का आ गया वक्त : दयालु


लखनऊ। प्रदेश के आयुष मंत्री दयाशंकर मिश्र दयालु ने कहा कि शिक्षकों के लिए चिकित्सा सुविधाएं देने की मांग काफी समय से लंबित है। अब समय आ गया है कि उनकी यह मांग पूरी की जाए। इसके लिए आयुष विभाग एक प्रस्ताव मुख्यमंत्री को भेजेगा। इसमें आयुष्मान कार्ड के लाभार्थियों की तरह शिक्षकों को पांच लाख तक की चिकित्सीय सुविधाएं प्रदान करने का प्रस्ताव है।

उन्होंने यह जानकारी गन्ना संस्थान में आयोजित उप्र माध्यमिक शिक्षक संघ के ग्रीष्मकालीन सम्मेलन और शिक्षक गोष्ठी में दी। सम्मेलन में खेल व युवा कल्याण मंत्री गिरीश चंद्र यादव बतौर मुख्य अतिथि मौजूद रहे। एमएलसी देवेंद्र प्रताप सिंह ने तदर्थ शिक्षकों को विनियमित करने की बात उठाई। सम्मेलन को संघ के प्रदेश अध्यक्ष चेत नारायण सिंह, संरक्षक राजबहादुर सिंह चंदेल, प्रदेशीय मंत्री व प्रवक्ता डॉ. महेंद्र नाथ राय ने भी संबोधित किया। डॉ. महेंद्र ने ग्रीष्मावकाश में शिक्षकों से काम लेने पर उन्हें नियमानुसार विशेष या उपार्जित अवकाश देने की मांग की। इसके अलावा वित्तविहीन शिक्षकों की सेवा नियमावली बनाते हुए उन्हें कोषागार से सीधे बैंक खाते में सम्मानजनक पांच अंकों का मानदेय दिए जाने समेत कई मांगें रखीं।

UPTET/CTET/SUPER TET, शिक्षक भर्तियों व अन्य भर्तियों हेतु NOTES 👇