किशोरों के कोरोना टीकाकरण के लिए करें व्यवस्था,12 साल से ऊपर के बच्चों के लिए कोवैक्सीन तीन जनवरी से : योगी

 लखनऊ : मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी के निर्देश पर प्रदेश में तीन जनवरी से 15 से 18 वर्ष के किशोरों को कोविड टीकाकरण का सुरक्षा कवच उपलब्ध कराने के पुख्ता व्यवस्था करने का निर्देश दिया है। उन्होंने 10 जनवरी से कोरोना योद्धाओं, स्वास्थ्य कर्मियों, फ्रेंटलाइन वर्कर्स और गंभीर बीमारियों से पीड़ित 60 वर्ष से अधिक आयु के बुजुर्गों को डाक्टर की सलाह पर कोविड वैक्सीन की प्रिकाशन (सतर्कता) डोज देने के लिए भी प्रदेश में वैक्सीन की सुचारु उपलब्धता सुनिश्चित करने के लिए कहा है।


किशोरों के कोविड टीकाकरण के लिए उन्होंने व्यापक जागरूकता अभियान संचालित करने का निर्देश दिया है। अपने सरकारी आवास पर रविवार को उच्चस्तरीय बैठक में प्रदेश में कोविड-19 की स्थिति की समीक्षा करते हुए मुख्यमंत्री ने कहा कि कोविड टीकाकरण में उप्र ने अब तक शानदार प्रदर्शन किया है। यह क्रम आगे भी इसी तरह जारी रहे, इसके लिए प्रभावी प्रयास किये जाएं। उन्होंने कोरोना संक्रमण से बचाव और उपचार की व्यवस्थाओं को मजबूत बनाये रखने के निर्देश देते हुए कोविड प्रोटोकाल का पूरी तरह पालन कराने पर जोर दिया। उन्होंने कोरोना के नये वैरिएंट की रोकथाम के लिए केंद्र सरकार के नए दिशानिर्देशों के अनुरूप सभी उचित कदम उठाने का निर्देश दिया।

योगी ने कहा कि कोविड संक्रमण के प्रसार को रोकने के लिए प्रदेशव्यापी रात्रिकालीन कफ्यरू का सख्ती से अनुपालन कराया जाए। पुलिस बल लगातार गश्त करे। वरिष्ठ अधिकारी स्वयं फील्ड में जाकर निरीक्षण करें। रात में संचालित होने वाली औद्योगिक इकाइयों के कर्मियों को आवागमन में छूट दी जाए। गौतमबुद्धनगर तथा गाजियाबाद जैसे सीमावर्ती जिलों में विशेष सतर्कता बरती जाए।

मुख्यमंत्री ने अन्य राज्यों तथा विदेश से प्रदेश में आने वाले प्रत्येक व्यक्ति की ट्रेसिंग एवं टे¨स्टग करने तथा बस व रेलवे स्टेशन और हवाई अड्डों पर अतिरिक्त सतर्कता बरतने की हिदायत दी।

’>>10 जनवरी से कोरोना योद्धाओं स्वास्थ्यकर्मियों को सतर्कता डोज के लिए भी व्यवस्था करने की हिदायत

’>>कोविड समीक्षा बैठक में दिए डाक्टर की सलाह पर बुजुर्गों को भी सतर्कता डोज देने का निर्देश

प्रदेश में पिछले 24 घंटे में मिले कोरोना के 59 नए मरीज, सक्रिय केस 323 हुए

बैठक में मुख्यमंत्री को बताया गया कि पिछले 24 घंटों में राज्य में कोरोना संक्रमण के 59 नए मामले सामने आए हैं। वर्तमान में प्रदेश में कोरोना के सक्रिय मामलों की संख्या 323 है। सूबे के 34 जिलों में फिलहाल कोरोना का एक भी मरीज नहीं है। प्रदेश में 19.44 करोड़ लोगों को कोरोना वैक्सीन की डोज लगाई जा चुकी हैं। 6.91 करोड़ लोगों को टीके की दोनों डोज दी जा चुकी है। 12.53 करोड़ लोगों ने कोविड वैक्सीन की पहली डोज प्राप्त कर ली है। यह संख्या टीकाकरण के लिए पात्र प्रदेश की कुल आबादी की 84.89 प्रतिशत है।

जेएनएन, नई दिल्ली : देश में 12 साल से बड़े सभी बच्चों के टीकाकरण की राह खुल गई है। दवा नियामक ड्रग कंट्रोलर जनरल आफ इंडिया (डीसीजीआइ) ने भारत बायोटेक के स्वदेशी टीके कोवैक्सीन को 12 से 18 साल के बच्चों के लिए आपातकालीन इस्तेमाल की इजाजत दे दी है। डीसीजीआइ ने तीन जनवरी 2022 से इस कोरोना रोधी टीके के उपयोग की अनुमति प्रदान की है। वहीं शनिवार देर शाम 15 से 18 साल के किशोरों के टीकाकरण कार्यक्रम की घोषणा प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने की थी।

स्वास्थ्य मंत्रलय के एक वरिष्ठ अधिकारी के अनुसार कोवैक्सीन को इजाजत मिलने के बाद बड़े पैमाने पर बच्चों का टीकाकरण अभियान चलाया जा सकता है। देश में इस समय वैक्सीन का पर्याप्त स्टाक है। हालांकि अभी मंजूरी 12 साल से ऊपर के बच्चों को ही मिली है। अभी दो वर्ष से अधिक और 12 वर्ष से कम आयु के बच्चों के कोरोना रोधी टीके पर इंतजार करना होगा। इसके डाटा का परीक्षण विशेषज्ञ समिति कर रही है।

👇UPTET/CTET/SUPER TET, शिक्षक भर्तियों व अन्य भर्तियों हेतु नोट्स 👇