4000 शिक्षकों का वेतन लटका, आर्थिक तंगी से गुजर रहे शिक्षक

पीलीभीत। बेसिक शिक्षा विभाग में करीब चार हजार शिक्षक कार्यरत हैं। इन शिक्षकों को नवंबर का वेतन अभी तक नहीं मिला है। इससे शिक्षक आर्थिक तंगी से गुजर रहे हैं। आलम यह है कि दिसंबर बीतने को है, मगर वेतन कब मिलेगा। इसकी जानकारी कोई नहीं दे पा रहा है।


शिक्षकों के अनुसार लेखा विभाग का हमेशा ही यही रवैया रहता है। शासन का स्पष्ट तौर पर हर माह की एक तारीख को वेतन शिक्षकों के खाते में भेजने के निर्देश है। मगर यहां लेखा विभाग में कर्मचारियों की मनमानी के चलते शिक्षकों को वेतन मिलने में हमेशा दिक्कत होती है। शिक्षक कार्यालय के चक्कर लगाकर परेशान हो रहे हैं, मगर उनकी सुनने वाला कोई नहीं है। वेतन न मिलने से कई शिक्षकों की लोन की किस्त भी टूट गई है।

कभी भी अध्यापकों को समय से वेतन नहीं मिलता। अपनी बात रखने अगर कार्यालय जाओ तो कोई सुनने वाला नहीं। समस्या का निस्तारण तो नहीं किया जाता और उल्टा पदाधिकारियों पर ही आरोप प्रत्यारोप लगा दिए जाते हैं। फर्जी मुकदमे लिखवा दिए जाते हैं। शीघ्र वेतन की समस्या का निस्तारण नहीं हुआ तो सड़कों पर उतरने के लिए बाध्य होंगे। - सत्येंद्र गंगवार, मंत्री प्राथमिक शिक्षक संघ बरखेड़ा


लेखाधिकारी मेडिकल पर थे। एक दो दिन में वेतन जारी हो जाएगा।
- चंद्रकेश सिंह, बीएसए


👇UPTET/CTET/SUPER TET, शिक्षक भर्तियों व अन्य भर्तियों हेतु नोट्स 👇